नही रही जेसिका की लड़ाई लड़ने वाली सबरीना , बीमारी से मौत

नही रही जेसिका की लड़ाई लड़ने वाली सबरीना , बीमारी से मौत

साभार : सोशल मीडिया


नई दिल्ली: अपनी बहन जेसिका लाल के हत्यारों से कड़ा मुकाबला करने वाली सबरीना अपनी बहन का मुकदमा तो जीत गयी पर उसकी यादो में इतना खो गयी की अपनी चिंता ही नही रही | उनकी मौत लम्बी बीमारी से हुई पर भारत उनको याद करता रहेगा | एक बहन जिसने अपनी बहन के कातिल को अदालत के कठघरे में लाने के लिए लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी , वह 53 साल की उम्र में हम सब को छोड़ चली गयी |

सूत्रों की माने तो सबरीना लाल लंबे समय से बीमार थीं और लीवर सिरोसिस से पीड़ित थीं.

उनके भाई रंजीत लाल ने कहा, 'वह (सबरीना) अस्वस्थ थीं और उनका अस्पताल आना-जाना लगा रहता था. शनिवार को घर में उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ गई और हम उन्हें अस्पताल ले गए. रविवार शाम उनका निधन हो गया. वह लीवर सिरोसिस से पीड़ित थीं, जिसके चलते उनके शरीर के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था.'


जेसिका लाल की साल 1999 में राष्ट्रीय राजधानी स्थित एक रेस्तरां में हत्या कर दी गई थी जब उन्होंने हत्यारे मनु शर्मा को शराब नहीं दिया था | इतना काफी था उस बिगडैल लड़के के लिए जो एक सभ्य परिवार से आता था | उसने गोली चला अपने परिवार की सभ्यता और जेसिका की सांस दोनों ख़त्म कर दी |

हालाकि जब उसको अच्छे चाल चलन के कारण छोड़ा गया तो सबरीना ने कहा था कि वह अपनी बहन के हत्यारे मनु शर्मा को माफ कर चुकी हैं.

पूर्व केंद्रीय मंत्री विनोद शर्मा के बेटे मनु शर्मा को जेसिका लाल की हत्या के मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय ने दिसंबर 2006 में दोषी ठहराते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी.

सबरीना ने साक्षात्कार में कहा था, 'वह (जेसिका) अपने जीवन में बहुत ही खुश और सकारात्मक नजरिए वाली थी. यह सिर्फ उसके जन्मदिन और बरसी तक सीमित नहीं है कि मुझे उसकी कमी खलती हो, हर रोज मुझे उसकी कमी खलती है. मैंने अपने घर में उसकी बहुत सारी तस्वीरें लगा रखी हैं और मैं उसे भूलना नहीं चाहती, ये (तस्वीरें) मुझे उसकी याद दिलाती रहती हैं.'



Next Story
Share it