Top

अब हैदराबाद और नासिक के बीच भरिये उड़ान

अब हैदराबाद और नासिक के बीच भरिये उड़ान

अब हैदराबाद और नासिक के बीच भरिये उड़ान

मीना पाण्डेय , संपादक , बचपन एक्सप्रेस

भारत में हवाई क्षेत्र में संपर्क अब अपने चरम की ओर बढ़ रहा है - पहले हवाई जहाज पर उड़ना एक सपना था और वो सिर्फ कुछ लोगो तक ही सीमित था - पर मोदी सरकार ने इसे आम आदमी के करीब ला दिया -

जो क्षेत्र पहले सिर्फ बड़े लोगो तक सीमित था और बड़े महानगर और देश इस सुविधा से जुड़े थे उसको बदलते हुए मोदी सरकार ने छोटे लोग , छोटा शहर तक उड़ान को ले आये है -

आज हैदराबाद, तेलंगाना से नासिक, महाराष्ट्र तक दूसरी सीधी उड़ान का संचालन शुरू किया गयाI श्री छगन भुजबल, संरक्षक मंत्री, नासिक, श्री हेमंत गोडसे, सांसद, नासिक, श्री सूरज मंधारे, जिला कलेक्टर, नासिक, श्री सुनील पाटिल, पुलिस अधीक्षक, नासिक ग्रामीण के साथ श्री मनीष रावल, अध्यक्ष, इन्फ्रास्ट्रक्चर कमेटी निमा, नासिक और श्री शेषागिरि राव, सीईओ, एचएएल एयरपोर्ट नासिक ने नासिक हवाई अड्डे पर उड़ान संचालन को हरी झंडी दिखाई।

नागरिक उड्डयन मंत्रालय (एमओसीए) और एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआई) के अधिकारी भी कार्यक्रम में मौजूद थे। अब तक, उड़ान योजना के तहत 297 मार्गों और 53 हवाई अड्डों पर सेवाएं उपलब्ध हो गई हैं।

एलायंस एयर द्वारा हैदराबाद-नासिक मार्ग पर विमान सेवा की सफल शुरुआत के बाद, स्पाइसजेट इस मार्ग पर सीधी उड़ान संचालन शुरू करने वाली दूसरी एयरलाइन बन गई है।

स्पाइसजेट को आरसीएस-उड़ान-2 बोली प्रक्रिया के तहत हैदराबाद-नासिक मार्ग उड़ानों के परिचालन की जिम्मेएदारी मिली थी। एयरलाइन को आम लोगों के लिए किराए को सस्ता और सुलभ रखने के लिए उड़ान योजना के तहत व्यवहार्यता अंतर वित्त पोषण (वीजीएफ) प्रदान किया जा रहा है।

एयरलाइन चार साप्ताहिक उड़ानों का संचालन करेगी और अपने 78 सीटों वाले क्यू400 विमानों को तैनात करेगी। नासिक स्पाइसजेट द्वारा उड़ान योजना के तहत जोड़ा जाने वाला 14वां गंतव्य स्थान है।

नासिक शहर में व्यापार और पर्यटन के अवसरों के कारण यात्रियों द्वारा हैदराबाद- नासिक मार्ग पर विमान सेवाओं की भारी मांग है। नासिक को तीर्थों का शहर भी कहा जाता है। नासिक उन 4 तीर्थ स्थलों में से एक है जहां हर 12 साल में एक बार कुंभ मेले का आयोजन किया जाता है।

नासिक शिरडी साईं मंदिर और त्र्यंबकेश्वर मंदिर के लिए प्रवेश द्वार होने के साथ स्वयं पवित्र मंदिरों की उपस्थिति के कारण एक तीर्थ पर्यटन स्थल है। इसके अलावा, इसे भारत की अंगूर और शराब की राजधानी के रूप में भी जाना जाता है।

इसके अतरिक्त, नासिक में हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) एयरक्राफ्ट डिवीजन नासिक भी है, जो के-13 मिसाइलों के साथ मिग और सू विमान भी बनाती है। इसके अलावा, नासिक कई बड़े निर्माताओं जैसे महिंद्रा एंड महिंद्रा, बॉश, एबीबी, क्रॉम्पटन ग्रीव्स, थीसेनक्रुप, सीएट इत्यादि के लिए भी एक क्लस्टर रहा है।

उड़ान समय सारणी इस प्रकार है:

उड़ान संख्या प्रस्थान हवाई अड्डा आगमन हवाई अड्डा प्रस्थान का समय आगमन का समय यात्रा का समय आवृत्ति

2789 हैदराबाद नासिक 10:35 12:05 1:30 मंगलवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार

2790 नासिक हैदराबाद 12:35 14:10 1:35 मंगलवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार

(पीआईबी के इनपुट के साथ )


Next Story
Share it