Top

उत्तर प्रदेश के लगभग 34 जिलों में मौसम विभाग का हाई अलर्ट जारी। भीषण वर्षा के साथ 87 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी हवाएं

उत्तर प्रदेश के लगभग 34 जिलों में मौसम विभाग का हाई अलर्ट जारी। भीषण वर्षा के साथ 87 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेंगी हवाएं


मानसून आने से पहले ही उत्तर प्रदेश में बारिश को लेकर मौसम विभाग ने हाई अलर्ट जारी कर दिया है। बता दें कि उत्तर प्रदेश के 34 जिलों में येलो से लेकर ऑरेंज अलर्ट दिया जा रहा है। और अंदाजा लगाया जा रहा है कि इस साल राज्य में 274.7 मिलीमीटर बारिश होनी है। 260.6 एमएम बरसात हो चुकी है, वहीं, तापमान में भी लगभग 5 डिग्री की गिरावट आई है।

मौसम विभाग की माने तो आशंका जताई जा रही है कि प्रदेश के कई जिलों में 50 से लेकर 87 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। जिसके साथ ही बिजली कड़कने की भी आशंका जताई जा रही है। यदि बारिश की वजह से उत्तर प्रदेश में नुकसान को देखें तो बीते 1 दिन पहले पूरे प्रदेश में 14 मौतें दर्ज की गई है।

आपको बता दें कि यलो अलर्ट के तहत 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी जिसके साथ ही बिजली कड़कने के भी आसार देखे जा रहे हैं। ऐसे में पूर्वांचल के तकरीबन 19 जिलों को सतर्क रहने के सख्त निर्देश दिए गए हैं जिनमें बलिया, मऊ, आजमगढ़, गोरखपुर, देवरिया, गाजीपुर, चंदौली, सोनभद्र, शीनगर, महाराजगंज, सिद्धार्थ नगर, संत कबीर नगर, बस्ती, मैनपुरी, कासगंज, एटा, बदायूं, संभल, सहारनपुर और शामली भी शामिल है।

यदि बात ऑरेंज अलर्ट की करें तो प्रदेश के कुछ हिस्सों में 87 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा का बहाव देखा जाएगा। जिनमें प्रदेश की राजधानी लखनऊ एवं वेस्ट यूपी के तकरीबन 15 जिलों को शामिल किया गया है।बता दें कि अभी तक दैवीय आपदा के कारण उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी की गई जानकारी के मुताबिक तकरीबन सिर्फ सीतापुर में 10 लोगों की मौत हुई है।

वही 4 लोग घायल हुए हैं और बाढ़ के कारण शामली नदी में दो लोगों की डूबने से मौत हो गई। भीषण वर्षा की वजह से प्रदेश में 7 पशुओं की मौत और 37 मकानों के गिरने की भी खबर आई है। ऐसे में मौसम विभाग द्वारा जारी किए गए खतरनाक अलर्ट से उत्तर प्रदेश सरकार भी योजना बनाने में जुट चुकी है।

नेहा शाह

Next Story
Share it