Top

कोरोना से लड़ाई के लिए RBI ने झोंकी ताकत, खोले राहत के दरवाजे.....

कोरोना से लड़ाई के लिए RBI ने झोंकी ताकत, खोले राहत के दरवाजे.....



कोरोना की दूसरी लहर के खतरे को देखते हुए रिजर्व बैंक आफ इंडिया ने बड़ा ऐलान किया है. आरबीआई ने इमरजेंसी हेल्थ सर्विसेज के लिए 50 हजार करोड़ की लिक्विडिटी का प्रावधान किया है. कोरोना के दूसरी लहर से रिकवर हो रही इकोनॉमी पर गहरा असर डाला है.

पहली लहर के बाद से देश की अर्थव्यवस्था पटरी पर आ रही थी, लेकिन कोविड की दूसरी लहर ने स्थितियां खराब की हैं. फिलहाल ग्लोबल इकोनॉमी में रिकवरी के संकेत मिल रहे हैं. ये बातें आरबीआई गर्वनर शक्तिकांता दास आज कोरोना और उससे जुड़ी स्थितियों पर प्रेस कॉन्फ्रेस में कही है.

आज भारत मुश्किलों के दौर से गुजर रहा है. रिजर्व बैंक परिस्थितियों पर नजर बनाए हुए है. भारत की ग्रोथ में लगातार सुधार हो रहा था लेकिन अचानक संक्रमण की संख्या बढ़ने से आर्थिक हालातोें में बदलाव आए हैं. हमने कोरोना के ग्राफ को फ्लैट कर लिया था, लेकिन अब हालात बदल चुके हैं. कोरोना की दूसरी लहर से इकोनॉमी पर असर पड़ा है. हमे तुरंत और बड़े पैमाने पर कदम उठाने की जरूरत है. कोरोना के कारण आउटलुक अनिश्चित है.

उन्होंने कहा, ''भारत का एक्‍सपोर्ट मार्च में काफी बढ़ा है. भारत सरकार के आंकड़ों की मानें तो अप्रैल में यह तेजी से बढ़ा है.'' दास ने कहा कि बाजार से सरकारी सिक्‍योरिटी को काफी अच्‍छा रिस्‍पांस मिला है. RBI इस Tempo को आगे भी बढ़ाने की सोच रहा है, ताकि मुनाफे को भुनाया जा सके. आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि मॉनसून की स्थिति अच्‍छी रहने वाली है. IMD की मानें तो मॉनसून ग्रामीणों और शहरों की जरूरतों को पूरा करने में सफल रहेगा. इससे महंगाई की दर में कमी आएगी.

अराधना मौर्या

Next Story
Share it