पति के अत्याचार से तंग आकर, महिला ने दिया तलाक

पति के अत्याचार से तंग आकर, महिला ने दिया तलाक


लखनऊ : उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से ऐसा मामला सामने आया है। जहां एक मुस्लिम महिला ने खुद अपने पति पर अत्याचार का आरोप लगाते हुए तलाक दे दिया। महिला ने कहा कि मैं अपने पति के साथ नहीं रहना चाहती, इसलिए मै तलाक दे रही हूं।
मिली जानकारी के अनुसार रेशमा नाम की मुस्लिम महिला का निकाह पूरे रीति रिवाज के साथ 4 फरवरी 2006 को शारिक सिद्दीकी नाम के शख्स से हुआ था। जिसके बाद उनको एक बेटी हुई जो अब 10 साल की है।
महिला ने तलाक देने की वजह बताते हुए कहा कि पति बार-बार अत्याचार कर रहा था।लेकिन महिला का कहना है कि वह बेटी की वजह से पति के साथ अपने रिश्ते को कायम रखना चाहती थी।
महिला ने बताया कि पति मारपीट और अत्याचार करना नहीं छोड़ रहा था , जिससे परेशान आकर अपने पति को खुद तलाक देने का फैसला लिया ।
पीड़िता ने कहा कि जब कोई महिला अपने पति के साथ रहने में संतुष्ट नहीं होती तो कुरान के मुताबिक वो पति को तलाक दे सकती है।उन्होंने कहा कि अपने इस अधिकार का प्रयोग करके महिला स्वतंत्र जीवन यापन कर सकती है।

Next Story
Share it