Top

आज गुरु नानक जयंती हैं गुरुपरब के मौके पर उत्सव और कीर्तन, लंगर का आयोजन किया गया।

आज गुरु नानक जयंती हैं गुरुपरब के मौके पर उत्सव और कीर्तन, लंगर का आयोजन किया गया।


नई दिल्ली: 30 नवंबर 2020 यानी सोमवार को गुरु नानक जयंती है। हिन्‍दू पंचांग के अनुसार कार्तिक मास की पूर्णिमा को गुरु नानक जयंती मनाई जाती है। इस दिन को गुरु पर्व या प्रकाश पर्व भी कहा जाता है। लोग गुरु नानक जी के जन्‍मदिवस को प्रकाश पर्व के तौर पर मनाते हैं। इस दिन उनकी सीखों को याद किया जाता है। गुरुद्वारों में खास इंतजाम किए जाते हैं। इस दिन लोग गुरुद्वारों में जाकर शीश झुकाते है। ऐसे में आप भी इस गुरु नानक जयंती (Guru Nanak Jayanti 2020 Wishes) पर अपने दोस्तों और परिवारजनों को कुछ खास मैसेज भेज सकते हैं।

गुरुद्वारों में आस्था की धूम-

गुरुपरब के मौके पर गुरुद्वारों व आसपास के इलाकों की साफ-सफाई करने के बाद गुरद्वारों को सजाया जाता है। इसके बाद गुरु पूर्णिमा/प्रकाश पर्व/गुरुपरब के दिन सुबह से नगर कीर्तन के साथ प्रभातफेरी निकाली जाती है। नगर कीर्तन की अगुवाई गुरु पंच प्यारे करते हैं। प्रभातफेरी गुरुद्वारे से शुरू होती है और नगर में फिरने के बाद गुरुद्वारे तक वापस आती है। इसके बाद विशाल लंगर का आयोजन किया जाता है।

बताया जाता है कि गुरुनानक जयंती के दो दिन पहले गुरुद्वारों पर गुरु ग्रंथ साहिब के अखंड पाठ का आयोजन किया जाता है। गुरुपरब पर दो दिन तक होने वाले महोत्सव पर लोग जगह-जगह कीर्तन और लंगर का आयोजन करते हैं। नीचे दी गई तस्वीर कोरोना काल से पहले की है।

गुरु नानक जयंती के मौके पर सुबह से शाम तक गुरुद्वारों में प्रार्थना व दर्शन का दौर चलता रहता है। सिख धर्म में आस्था रखने वाले सभी लोग आज के दिन गुरुद्वारे पर जाकर मत्था टेकते हैं और वहां अपनी सेवा देते हैं।

ऋषि जयसवाल।

Next Story
Share it