अनलॉक के बाद दूधेश्वरनाथ मंदिर कि प्रबंधन समिति ने बिना वैक्सीनेशन मंदिर में प्रवेश करने वालों पर लगाई रोक

अनलॉक के बाद दूधेश्वरनाथ मंदिर कि प्रबंधन समिति ने बिना वैक्सीनेशन मंदिर में प्रवेश करने वालों पर लगाई रोक

वैश्विक महामारी के भयंकर संक्रमण को देखते हुए अनलॉक की प्रक्रिया के साथ अब मंदिरों के भी कपाट खोल दिए गए हैं परंतु 5 लोगों से अधिक लोगों को एक साथ प्रवेश करने की अनुमति नहीं दी गई है। आपको बता दें कि श्री दूधेश्वरनाथ मंदिर के कपाट अनलॉक के साथ खुल गए हैं बहुत ही कम संख्या में भक्त मंदिर में पूजा अर्चना के लिए पहुंचे। एक हफ्ते पहले मंदिर के महंत नारायण गिरि ने घोषणा की थी कि बिना वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र और कोविड रिपोर्ट के दर्शन नहीं कर सकेंगे।

मंदिर की प्रबंधन समिति के अनुसार पुजारियों द्वारा पूजा अर्चना और संध्या श्रृंगार की आरती की जा रही है। गौरतलब है कि अब जिले में अनलॉक के साथ मंदिर के कपाट भी खोल दिए गए। हालांकि कोरोना संक्रमण से एहतियात को देखते हुए भक्त स्वयं ही मंदिर में नहीं पहुंचे। सोमवार को ज्यादा भक्त मंदिर आते हैं। बाकी दिनों में काफी कम श्रद्धालु मंदिर जाते हैं। मंगलवार को मुख्य द्वार पर तैनात दो सेवादारों ने भक्तों का वैक्सीनेशन प्रमाण पत्र देखने के बाद प्रवेश दिया।दिया।

इस दौरान मंदिर के महंत नारायण गिरी ने संक्रमण की स्थिति को देखते हुए कहा कि अभी कोरोना का खतरा टला नहीं है। ऐसे में भक्तों से अपील है कि घर से ही पूजा अर्चना करें। जो वैक्सीनेशन करा चुके हैं वही मंदिर पर दर्शन और पूजा के लिए आएं। कोविड नियमों का पालन करते हुए मंदिर में प्रवेश ले सकेंगे।


नेहा शाह

Next Story
Share it