Top

एक बार फिर शुरू हो रही हैं क्रिकेट की दुनिया की बॉक्सिंग-डे मैच की परंपरा

एक बार फिर शुरू हो रही हैं क्रिकेट की दुनिया की बॉक्सिंग-डे मैच की परंपरा


इस बार फिर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 4 मैचों की टेस्ट सीरीज का पहला मैच एडिलेड में खेला गया। इस डे-नाइट मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 8 विकेट से हराकर सीरीज में 1-0 की बढ़त ले ली है।

इस सीरीज का अगला मैच 26 दिसंबर से मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड पर खेला जाएगा। जिसे ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और साउथ अफ्रीका में बॉक्सिंग डे टेस्ट कहा जाता है। पहला बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच 1950 में खेला गया था।

भारत ने 1985 से अब तक ऐसे 12 टेस्ट मैच खेले हैं। दुनिया में अलग-अलग जगहों पर इस दिन को लेकर अलग-अलग थ्योरी हैं। कई देशों में इसे क्रिसमस बॉक्स से जोड़कर देखा जाता है। क्रिकेट में बॉक्सिंग डे टेस्ट शब्द की शुरुआत 1892 में मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में हुए शेफिल्ड शील्ड के एक मैच से हुई थी।

वेस्टर्न क्रिश्चियनिटी के लिटर्जिकल कैलेंडर के मुताबिक बॉक्सिंग डे, क्रिसमस डे का अगला दिन (26 दिसंबर) होता है। आयरलैंड और स्पेन जैसे कई देशों में इसे सेंट स्टीफेंस डे भी कहा जाता है। इसके मुताबिक, क्रिसमस के अगले दिन लोग एक-दूसरे को क्रिसमस बॉक्स गिफ्ट करते हैं।

ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी के मुताबिक, बॉक्सिंग डे क्रिसमस की छुट्टी के बाद सप्ताह का पहला दिन होता है। इस दिन कई लोग काम पर जाते थे और उनके मालिक उन्हें क्रिसमस बॉक्स गिफ्ट करते थे। इसलिए इस दिन का नाम बॉक्सिंग डे पड़ा।

अदिती गुप्ता

Next Story
Share it