पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने किसानों से की पंजाब की सीमा से हटकर दिल्ली और हरियाणा की सीमा पर आंदोलन करने की अपील

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने किसानों से की पंजाब की सीमा से हटकर दिल्ली और हरियाणा की सीमा पर आंदोलन करने की अपील



पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को किसानों से आग्रह करते हुए कहा कि केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीन कृषि कानून के खिलाफ पंजाब के बजाय दिल्ली की सीमाओं पर धरना दें। इतना ही नहीं उन्होंने किसानों से कहा कि पंजाब में 113 स्थानों पर चल रहे आंदोलन से राज्य का आर्थिक विकास बाधित हो रहा है। जिसकी वजह से उन्होंने किसानों से अपील करते हुए कहा कि वे दिल्ली की सीमाओं पर जाकर केंद्र पर दबाव बनाए।

गौरतलब है कि केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गए तीन कृषि कानून के खिलाफ लगभग 1 साल से किसान प्रदर्शन पर दिल्ली पंजाब और हरियाणा की सीमाओं पर बैठा है। जिसकी वजह से राज्यों का आर्थिक विकास भी कम होता नजर आ रहा है। इस दौरान पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने किसानों से कहा कि 'मैं किसान भाइयों से कहना चाहता हूं कि यह आपका पंजाब है, आपके गांव हैं, आपके लोग हैं। आप दिल्ली (सीमा) पर जो करना चाहते हैं, वह करें, उनपर (केंद्र) दबाव बनाएं और उन्हें सहमत करें।

आपको बता दें कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मुखलियाना गांव में 13.44 करोड़ रुपये की लागत वाले सरकारी कॉलेज की आधारशिला रखने के बाद होशियारपुर में एक सभा को संबोधित करते हुए किसानों से आग्रह किया ।

इस दौरान उन्होंने सिर्फ किसानों से अपील नहीं की बल्कि केंद्र सरकार से तीन कृषि कानून को निरस्त करने का भी आग्रह किया। उन्होंने किसानों को आश्वासन देते हुए कहा कि इस मुद्दे पर सभी किसानों को यू-टर्न लेने की आवश्यकता है जिसमें पंजाब सरकार पूरा समर्थन करेगी।

अभय सिंह के इन बयानों पर हरियाणा सरकार के गृह मंत्री अनिल ने ट्वीट करते हुए कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री ने किसानों से कहा है कि आप जो भी करना चाहते हैं वह हरियाणा अथवा दिल्ली की सीमाओं पर करें न कि पंजाब में ।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का यह बयान बेहद गैरजिम्मेदाराना है, जिससे यह साबित हो गया है कि अमरिंदर सिंह ने किसानों को भड़काने का काम किया है।

नेहा शाह

Next Story
Share it