श्रीदुर्गाजी मंदिर में संस्कार संयोजन कार्यकर्ता स्वाध्याय शिविर का आयोजन

श्रीदुर्गाजी मंदिर में संस्कार संयोजन कार्यकर्ता स्वाध्याय शिविर का आयोजन


लखनऊ। गीता परिवार के तत्वावधान में दो दिवसीय संस्कार संयोजन कार्यकर्ता स्वाध्याय शिविर का आयोजन कल्याणकारी आश्रम श्री दुर्गाजी मंदिर शास्त्रीनगर में किया गया।

इस मौके पर डॉ. आशु गोयल, सुधीर तिवारी, अरविंद शर्मा, राजेंद्र गोयल, ताराचंद अग्रवाल ने दीप प्रज्जवल करके शिविर का शुभारंभ किया। अनुराग पांडेय ने बताया किया कि पद्य गान अरुण गौड़, भगवती स्तोत्र सुवर्णा मालपाणी, प्रात्यक्षिक गिरीश डागा, कार्य विस्तार से स्वविस्तार - एक साधना पथ डॉ. आशु गोयल, खेल ओम दरक, कथाकथन रेखा मुंदड़ा, प्रश्नोत्तरी राजेन्द्र गोयल और जितेन्द्र कुमार ने विविध मनोरंजक प्रतियोगिताएं का आयोजन किया गया। पूरे प्रदेश से 150 कार्यकर्ताओं ने अपनी कुशलता बढ़ाने के लिये प्रतिभाग किया।


अरविंद शर्मा ने बताया कि देशभर से पधारे अपने-अपने विषयों के मर्मज्ञ प्रशिक्षकों ने 150 से अधिक कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित और ग्रीष्मकालीन संस्कार पथ शिविरों को सफल बनाने के गुरु मंत्र बताए गए। आज परिवार, समाज और सम्पूर्ण विश्व में सर्वत्र संस्कारों के ह्रास का अनुभव किया जा रहा है। कड़े सरकारी कानून भी समाज को पतन से नहीं बचा पा रहे हैं। इसके लिये बाल्यावस्था से ही ऐसा कुछ किया जाना चाहिये कि समाज संस्कारित हो सके। इस दिशा में स्वामी गोविन्ददेव गिरि द्वारा स्थापित गीता परिवार निरन्तर बालक-बालिकाओं में संस्कारों का बीजोरोपण का कार्य कर रही है। इसी उद्देश्य की पूर्ति के लिए गीता परिवार ने गीष्मकालीन संस्कार पथ शिविरों में 10 से 15000 बालक-बालिकाओं में संस्कारों का बीजारोपण करने का प्रयास किया जाएगा।

Next Story
Share it