विधानसभा के विशेष सत्र से पहले मुख्यमंत्री योगी ने महिला विधायकों को लिखा पत्र

विधानसभा के विशेष सत्र से पहले मुख्यमंत्री योगी ने महिला विधायकों को लिखा पत्र

प्रदेश की महिला विधायकों को सीएम योगी आदित्यनाथ ने पत्र लिखा है. मुख्यमंत्री की ओर से यह पत्र ऐसे समय में लिखा गया है जब 22 सितंबर को विधानसभा और विधान परिषद में एक पूरा दिन महिला सदस्यों के लिए आरक्षित किया गया है |

महिला विधायकों को समर्पित करने के ऐतिहासिक मौके से ठीक पहले दोनों सदनों की सभी महिला सदस्यों को लिखे इस पत्र में मुख्यमंत्री ने महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बन के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है. साथ ही मिशन अंतर्गत अब तक के प्रयासों और परिणामों का पूरा विवरण भी उपलब्ध कराया है |

सीएम योगी ने महिला विधायकों को भेजे इस पत्र में लिखा, 'मिशन शक्ति के अन्तर्गत केन्द्र एवं राज्य सरकार की महिला सशक्तिकरण से जुड़ी योजनाओं और कार्यक्रमों के प्रभावी क्रियान्वयन से देश और दुनिया में उत्तर प्रदेश का पर्सेप्शन बदला है.'|

इसके साथ ही उन्होंने बताया, 'विगत साढ़े पांच वर्षों में उत्तर प्रदेश सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा व सम्मान को सुनिश्चित करते हुए उन्हें स्वावलम्बी बनाने के उद्देश्य से व्यापक स्तर पर कार्य किए हैं.'|

महिलाओं के लिए किए गए कार्यों का जिक्र करते हुए सीएम योगी ने कहा, 'मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, सरकारी नौकरियों में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाकर, स्वरोजगारपरक योजनाओं आदि से व्यापक स्तर पर जोड़कर महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में अभूतपूर्व कार्य किए गए हैं |

इसके साथ ही उन्होंने लिखा, 'मिशन शक्ति के अन्तर्गत प्रदेश सरकार द्वारा किए गए प्रयासों एवं उपलब्धियों पर केंद्रित सामग्री आपके अवलोकनार्थ प्रेषित की जा रही है. इससे आपको विषय को समझने में सुविधा होगी |

22 सितंबर को प्रदेश की विधानसभा और विधान परिषद में एक पूरा दिन महिला विधायकों को समर्पित करने का निर्णया लिया है. इस दिन विधानसभा की 47 और विधान परिषद की 6 महिला सदस्य अपना विषय रखेंगी.

Next Story
Share it