मऊ में जिलाधिकारियों ने किया खाद्य सामग्री का निरक्षण

मऊ में जिलाधिकारियों ने किया खाद्य सामग्री का निरक्षण

जिलाधिकारी मऊ के निर्देश पर सहायक आयुक्त खाद्य मऊ एसके त्रिपाठी के नेतृत्व में मिलावटी खाद्य तेल,अरहर दाल एवं मसाला के रोकथाम हेतु शनिवार को चलाए गए विशेष अभियान के क्रम में खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की टीम द्वारा जनपद के विभिन्न स्थानों पर छापेमारी करते हुए कुल 11 नमूने संग्रहित किए गए। इन सभी नमूनों को जांच हेतु लखनऊ की प्रयोगशाला को भेज दिया गया है।

सबसे बड़ी कार्यवाही मोहम्मदाबाद गोहना में हुई। मोहम्दाबाद गोहना में खाद्य सुरक्षा अधिकारी पंकज यादव ने संदेह के आधार पर कटनी मध्य प्रदेश से अरहर दाल लादकर नदवासराय जा रही एक ट्रक अरहर दाल को तमसा नदी के पास रोका,एवं उसमें लदे बोरे में पैक दाल को चेक किया तो उन्हें लगा कि इसमें लदे कुछ बोर पर बैच नंबर,मैनुफैक्चरिंग डेट आदि अंकित नहीं है।जिस पर उन्होंने इसकी जानकारी सहायक आयुक्त खाद्य मऊ एस के त्रिपाठी को दी। उनके निर्देश पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने गाड़ी को रोककर चेक किया। उन्होंने बताया कि ट्रक में लदे 333 बोरे में से 66 बोरियों पर नियमानुसार सूचनाएं अंकित ना होने पर उसकी गुणवत्ता के आधार पर उस दाल का नमूना लेते हुए 66 बोरी दाल जिसकी अनुमानित लागत लगभग 170000 ₹ है,उसे जप्त कर कार्यवाही की गई,तथा इन दोनों दाल का नमूना भी लिया गया। इसकी जानकारी मोहम्मदाबाद गोहना नगर के व्यापारियों को होने पर हड़कंप मच गया।

उधर खाद्य सुरक्षा अधिकारी मऊ की टीम द्वारा रतनपुरा में खुला मीट मसाला,कटघरा शंकर से अरहर दाल,नेमदाढ़ से रिफाइंड सोयाबीन आयल,कमलसागर से सरसों का तेल,मऊ शहर से चना दाल,अमिला बाजार से सरसों का तेल,पहसा से अरहर दाल, प्रीमियम सुपर मार्केट सहादत्तपुरा से चना दाल आदि का नमूना लेकर जांच हेतु लखनऊ प्रयोगशाला को भेज दिया गया है।

इस बाबत पूछे जाने पर सहायक आयुक्त खाद्य मऊ श्रवण कुमार त्रिपाठी ने बताया कि जांच उपरांत मिलावट सिद्ध पाए जाने पर संबंधित कारोबारकर्ता के विरुद्ध खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 के अंतर्गत सुसंगत धाराओं में विधिक कार्यवाही की जाएगी।

जांच टीम में दिनेश कुमार राय,रामानंद,पंकज कुमार,बिंदु पांडे,जय हिंद आदि रहे।

Next Story
Share it