राजस्थान विधानसभा के मानसून सत्र में बीजेपी उठाएगी अहम मुद्दा कहा- सरकार को देना होगा जवाब

राजस्थान विधानसभा के मानसून सत्र में बीजेपी उठाएगी अहम मुद्दा कहा- सरकार को देना होगा जवाब


राजस्थान विधानसभा के मानसून सत्र में बीजेपी द्वारा प्रदेश में कानून व्यवस्था, किसान कर्जमाफी, बेरोजगारी, महिलाओं और बच्चियों के साथ दुष्कर्म के मामलों में बढ़ोतरी, भ्रष्टाचार, एसीबी और पुलिस जैसी संस्थाओं का दुरुपयोग, कोरोना कुप्रबंधन, महंगी बिजली और ठप्प पड़े विकास कार्यों सहित जनसमस्याओं से जुड़े ज्वलन्त विषयों को प्रमुखता से उठाते हुए सरकार का ध्यान आकर्षित किया जाएगा।

इस दौरान राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस पार्टी द्वारा सत्ता में आने से पूर्व जन घोषणा पत्र में किए वादों और अब तक पेश किए गए तीनों बजटों में की गई घोषणाओं का क्रियान्वयन धरातल पर दूर-दूर तक नजर नहीं आ रहा है। जनता से की गई वादा खिलाफी को लेकर राज्य सरकार को सदन में जनता से जुड़े हर मुद्दे पर जवाब देना होगा।

उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को प्रदेश के मुखिया श्री अशोक गहलोत ने राजनीतिक हथियार बनाकर कांग्रेस पार्टी में जारी अंतर्कलह को छिपाने का असफल प्रयास किया तथा कोरोना की आड़ में मुख्यमंत्री निवास से बाहर नहीं निकलकर जनता को भगवान भरोसे छोड़ने का जो महापाप किया है। उसका खामियाजा राज्य सरकार को भुगतना पड़ेगा।

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि गहलोत सरकार जिन मुद्दों पर विफल रही है, उन मुद्दों पर भारतीय जनता पार्टी एकजुट होकर विधानसभा में सरकार को घेरने का काम करेगी। उन्होंने कहा कि हमारी पुरजोर कोशिश रहेगी कि जन समस्याओं से जुड़े मुद्दों पर सरकार सवालों से पीछे नहीं भागे, हर एक सवाल का जवाब दें और सारगर्भित चर्चा कर आमजन की समस्याओं का निराकरण करें।

नेहा शाह

Next Story
Share it