ठेका व्यवस्था समाप्त हो सीएम को भेजा ज्ञापन

ठेका व्यवस्था समाप्त हो सीएम को  भेजा ज्ञापन

आये दिन सफाईकर्मचारियों के साथ हो रही घटनाओ को लेकर सफाई कर्मचारियों का प्रदर्शन तेज हो गया है। हाल में जिस तरह बिना सुरक्षा के सफाई कर्मचारियों को गटर में सफाई के लिए उतारा गया है। उससे कई मौते सामने आयी है।
गौरतलब है कि सफाई कर्मचारियों की ठेके व्यवस्था सिस्टम से बिचौलिया काफी माल काट रहे है। वंही सरकार और संस्था से जो कर्मचारियों को वेतन मिलता है वह भी पूरा उनके खाते में नहीं आता है कमीशन बंदरबांट का आलम यह है कि सफाई कर्मचारियों तक उनका वेतन 7 से 8 हज़ार रुपये मात्रा पहुंचता है।
ठेका व्यवस्था समाप्त करने व वर्षों से लम्बित 15 समस्याओं के निस्तारण की मांग लेकर अखिल भारतीय स्वच्छकार ऐसोसिएशन सोमवार को मुख्यमंत्री आवास पहुंचा। मुख्यमंत्री के सुरक्षा अधिकारी को मांगों का ज्ञापन सौंपकर यथाशीघ्र समस्याओं के निस्तारण की मांग की।
ऐसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्यामलाल पुजारी ने प्रशासनिक अधिकारी को बताया कि कार्यदायी संस्था के माध्यम से सफाई कर्मियों का शोषण किया जा रहा है। उनसे 15 घंटे तक काम लिया जा रहा है।
वेतन भी आधा-अधूरा दिया जा रहा है। उन्होंने केन्द्रीय श्रम मंत्रालय के अनुसार समान कार्य का समान वेतन दिए जाने की गुहार लगाई। कहा कि स्थानीय निकायों में लगभग 70 हजार सफाई कर्मियों के पद खाली चल रहे हैं।
इनपर वाल्मीकि, धानुक स्वच्छकार समाज की भर्ती, वाल्मीकि स्वच्छकार समाज को अनुसूचित जाति के आरक्षण में से 5 प्रतिशत अलग आरक्षण, नगर निगम, नगर पालिका परिषद, नगर पंचायतों, अस्पतालों, विद्यालयों तथा सभी सरकारी प्रतिष्ठानों में कार्यरत संविदा एवं ठेकेदारी प्रथा के सफाई कर्मियों को नियमित सफाई कर्मियों की भांति वेतन भुगतान एवं अवकाश तथा ईपीएफ-बीमा आदि की सुविधायें दी जाए।
इसके अलावा समस्त सरकारी आवासीय योजनाओं में स्वच्छकार समाज के लोगों को आसान किश्तों में वरीयता के आधार पर आवंटन, नगर निकायों में स्वीपर वेलफेयर कमेटी का पुर्नगठन कराकर संविदा सफाई कर्मचारी के एक सदस्य को नामित कराने, वरिष्ठता सूची के हिसाब से सिनेटरी सुपरवाईजर के पदों पर पदोन्नति आदि मागों को यथाशीघ्र पूरी करने की मांग की।
इस दौरान संगठन के सचिव शिव कुमार वाल्मीकि, प्रदेश अध्यक्ष जगदीश अटल वाल्मीकि, प्रदेश महासचिव राम कुमार वाल्मीकि, रुपेश वाल्मीकि, सुदेश कुमार व सुनील वाल्मीकि उपस्थित रहे।

Next Story
Share it