नई शिक्षा नीति के तहत स्कूल में सिर्फ पढ़ाई का जिम्मा

Aarti:

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने नई शिक्षा नीति के प्रस्ताव में स्कूली शिक्षकों को गैर शैक्षणिक गतिविधियों से पूरी तरह अलग रखने का सुझाव दिया है और साथ ही साथ यह उम्मीद भी जताई है कि इससे स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार दिखाई देगा |

नई शिक्षा नीति के तहत शिक्षकों को मिड डे मील की जिम्मेदारी को अलग रखने से स्कूली शिक्षकों को बड़ी राहत पहुंचने वाली है आने वाले दिनों में उन्हें सभी गैर शैक्षणिक कार्यों से पूरी तरह मुक्त किया जा सकता है ऐसे में अब बच्चों को सिर्फ पढ़ाई की जवाबदेही रहेगी गौरतलब है कि मिड डे मील की वजह से शिक्षकों को लंच ब्रेक के दौरान भोजन की तैयारी और बनवाने पर बहुत सारा समय व्यर्थ चला जा रहा था|

माना जा रहा है की शिक्षा नीति में परिवर्तन से अब शिक्षकों को काफी राहत और समय मिल सकेगा यह कदम इसलिए भी उठाया गया है क्योंकि स्कूलों में शिक्षकों के पहले से ही भारी कमी है एक रिपोर्ट के मुताबिक पूरे देशभर के स्कूलों में करीब 10 लाख शिक्षक के पद खाली पड़े हुए हैं यही वजह है कि मंत्रालय ने नई शिक्षा नीति मैं इसे प्रमुखता जगह दी है ।

60 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Subscribe To our News Paper