Top

सप्ताहिक बंदी समाप्त होने के बाद भी बाटी जा रहा है राहत सामग्री चंदापुर में किशोरियों और महिलाओं में बाँटी गयी सामग्री

सप्ताहिक बंदी समाप्त होने के बाद भी बाटी जा रहा है राहत सामग्री चंदापुर में किशोरियों और महिलाओं में बाँटी गयी सामग्री


लोक समिति आशा ट्रस्ट संस्था द्वारा सैकड़ो गाँव में चार हजार परिवार और दस हजार से ज्यादा प्रवासी मजदूरों को राशन, मास्क और सेनिटेशन किट की मदद पहुँचाई जा चुकी है

रोहनिया-लोक समिति और आशा ट्रस्ट की तरफ से चलाए जा रहे कोरोना राहत-कार्य अभियान के तहत डोनेटकार्ट (हैदराबाद) के सहयोग से चंदापुर गाँव में गरीब और ज़रूरतमंद महिला और किशोरियों को सूखा राशन,मास्क, सेनेटरी पैड और सेनिटेशन किट बाँटा गया। पौष्टिक आहार, सेनेटरी पैड व अन्य राहत सामग्री पाकर किशोरी लड़कियों के चेहरे खिल गए। लोगों ने कोरोना महामारी में लगातार मदद करने के लिए संस्था के लोगों का आभार जताया।

लोक समिति के संयोजक नन्दलाल मास्टर ने बताया कि कोरोना महामारी में गांव की गरीब और ज़रूरतमंद परिवारों की मदद लगातार जारी है। संस्था द्वारा आराजी लाइन और सेवापुरी ब्लाक के सैकड़ो गाँव के लोगों में अब तक चार हजार परिवार और दस हजार से ज्यादा प्रवासी मजदूरों को राहत सामग्री, मास्क और सेनिटेशन किट की मदद पहुँचाई जा चुकी है। महिलाओं और किशोरियों के लिये खास तैयार की गई इस राहत किट में सूखा राशन दाल, सोयाबीन, तेल,जूस, जैसी पौष्टिक सामग्री के साथ मास्क, सेनेटाइजर आदि को शामिल किया गया है। लोगों को राहत सामग्री देने के साथ साथ कोरोना महामारी में साफ सफाई और शोसल डिस्टेंशी का पालन करने और मास्क देकर उसका निरन्तर इस्तेमाल करने के बारे में भी बताया जा रहा है।

वितरण कार्यक्रम में मुख्यरूप से सोनी, अनीता, आशा, नन्दलाल मास्टर, सीमा,बेबी,मैनब, प्रेमा, चन्द्रकला, मधुबाला, अमित,रामबचन,मनजीता,शमा बानो,सीमा,श्यामसुन्दर,सुनील मास्टर और पंचमुखी आदि लोग शामिल रहे।





Tags:    NGO Poor 
Next Story
Share it