Top

जनता के दिलों में पैठ बनाने वाली नेता थीं इन्दिरा गांधी

जनता के दिलों में पैठ बनाने वाली नेता थीं इन्दिरा गांधी


वाराणसी 19नवम्बर।आम जनता के दिलों में पैठ बनाने की अद्भुत कला थी देश की प्रथम महिला प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्रीमती इन्दिरा गांधी जी में जिसके बल पर उन्होने सत्ता से बाहर होने के मात्र ढाई वर्षों में पुनर्वापसी करके दुनियां भर को अचंभित कर दिया था।

उक्त विचार आज ईंगलिसियालाईन स्थित पंडित कमलापति त्रिपाठी फाउन्डेशन की ओर से पूर्व प्रधानमंत्री आईरन लेडी श्रीमती इन्दिरा गांधी के जन्मदिवस पर आयोजित विचार गोष्ठी में वक्ताओं ने ब्यक्त किया। गोष्ठी में विचार रखते हुये वक्ताओं ने आगे कहा कि देश के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की बेटी इन्दिरा जी को लोगों के मन में पैठ बनाने और जनविश्वास को जीतने की अनोखी कला विरासत में मिली थी, जिसे उन्होंने अपने दृढ़ चरित्र , बेबाक कार्यशैली और निर्णय लेने की मजबूत इच्छाशक्ति से परिमार्जित कर देश को ऐसा शासन दिया जहाँ से भारत को एक नई दिशा और ऊंचाई मिली । प्रिवीपर्श की समाप्ति और बैंको के राष्ट्रीय करण जैसे उनके क्रान्तिकारी निर्णय से देश तेजी के साथ हरित क्रांति के पथ पर चलने में समर्थ हुआ था। उन्होंने अपी कुशल नेतृत्व क्षमता से पाकिस्तान का भूगोल बदल करके विश्व भर के तमाम नेताओं को स्तम्भित कर दिया था । उनके जैसे लौह ईरादे वाली मजबूत राजनेत्री के द्वारा की गयी राष्ट्र की महान सेवावों को आने वाली पीढ़ियां आसानी से नकार नहीं पायेंगी, देश की एकता-अखंडता के लिये दिया गया उनका महान बलिदान और उनका दृढ़ प्रशासनिक ब्यक्तित्व लम्बे समय तक देश के लिये कुछ कर गुजरने के लिये लोगों को हमेशा प्रेरित करता रहेगा।

प्रारंभ में इन्दिरा जी के चित्र पर माल्यार्पण करके श्रध्दा सुमन अर्पित किया गया।

विचार गोष्ठी की अध्यक्षता उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व उपाध्यक्ष विजय शंकर पान्डेय ने और संचालन उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी आर0टी0आई0 सेल के पूर्व चेयरमैन बैजनाथ सिंह ने किया, गोष्ठी में प्रमुख रूप से महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ पत्रकारिता विभाग के पूर्व विभागाध्यक्ष प्रोफ़ेसर अनिल कुमार उपाध्याय, पूर्व शहर कांग्रेस अध्यक्ष विजयशंकर मेहता, छावनी परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष श्री शैलेन्द्र सिंह, पी0सी0सी0 सदस्य श्री भूपेन्द्र प्रताप सिंह, राकेश चन्द्र शर्मा , डाक्टर उमापति उपाध्याय, प्रमोद श्रीवास्तव, विजय कृष्ण राय अन्नू, आनन्द मिश्रा, अशोक कुमार पान्डेय, विनोद कुमार सिंह कल्लू, युवा नेता पुनीत मिश्रा, विपिन मेहता, शुभम राय , सुवाष राम, अजय सिंह, पिन्टू शेख आदि रहे।

Next Story
Share it