Top

हाथरस केस में सीबीआई की बात मानने से परिजनों ने किया इनकार, जाने पूरा क्या है मामला

हाथरस केस में सीबीआई की बात मानने से परिजनों ने किया इनकार, जाने पूरा क्या है मामला


हाथरस के मामले में पूरे देश में बलात्कार के खिलाफ एक आक्रोश पैदा कर दिया था। जैसे उत्तर प्रदेश सरकार की भी काफी निंदा की गई थी। परंतु हाथरस के एक पहेली बन कर रह गया है दरअसल बलात्कार का दावा करने वाले परिजनों के ऊपर आरोप है, कि उन्होंने अपनी बेटी की हत्या स्वयं की है।

हाथरस केस में पीड़िता के साथ बलात्कार करने का आरोप जिन चार लोगों पर लगे तो पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। पर आरोपियों ने पुलिस से मांग करते हुए कहा कि आप परिवार का भी नारकोटिक्स करवाइए क्योंकि हम निर्दोष हैं।

आपको बता दें कि हाथरस केमिस्ट्री सॉफ्ट करने के लिए यह केस सीबीआई को सौंप दिया गया था। परंतु सीबीआई की बात भी परिजन मानने को तैयार नहीं हो रहे हैं।

दरअसल हाथरस के कथित गैंगरेप में खेत में सबसे पहले पहुंचने का दावा करने वाले छोटू की मां ने अपने बेटे का पॉलीग्राफ टेस्ट करवाने से साफ मना कर दिया है। छोटू मजदूरी करने के लिए 3 दिसंबर को ही अपने भाई के पास जयपुर चला गया है।

आपको बता दें कि जनता भारी मांग के बाद हाथरस का केस सीबीआई को सौंप दिया गया है। सीबीआई अपनी जांच पड़ताल कर रही है। हाथरस के केस में 4 आरोपियों का पॉलीग्राफ टेस्ट करवाया जा चुका है। छोटू से पहले भी सीबीआई ने घर जाकर पॉलीग्राफ टेस्ट करवाने को कहा था, परंतु छोटू की माने टेस्ट करवाने से साफ इनकार कर दिया।

बताया कि 5 दिन पहले सीबीआई के कुछ लोग घर आए थे। उन्होंने बताया कि छोटू का पॉलीग्राफ टेस्ट होना है, परंतु छोटू की मां ने इससे साफ इनकार कर दिया। छोटू की मां ने कहा कि छोटू 3 दिसंबर को ही अपने बड़े भाई के पास मजदूरी करने के लिए जा चुका है।इस कांड के कारण उनका परिवार परेशान है, तथा दोनों बेटे बेरोजगार होकर घर पर ही बैठे हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें अपने बेटों का कोई पॉलीग्राफ टेस्ट नहीं करवाना।

आपको बता दें कि हाथरस केमिस्ट्री सॉल्व करने के लिए योगी आदित्यनाथ में सीबीआई के साथ ईडी को भी हाथरस की जांच पड़ताल करने को कहा है। दोनों जांच एजेंसियां अपने - अपने पक्ष पर जोरों शोरों से जांच कर रहे हैं।

नेहा शाह

Next Story
Share it