Top

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पहुंचे लखनऊ। सिद्धार्थ नाथ सिंह को दी बहस की चुनौती

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पहुंचे लखनऊ। सिद्धार्थ नाथ सिंह को दी बहस की चुनौती


उत्तर प्रदेश विधानसभा 2022 में चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद आम आदमी पार्टी और भाजपा के नेताओं में अक्सर भिड़ंत देखी जा रही है। आपको बता दें कि अरविंद केजरीवाल ने प्रेस वार्ता के दौरान ऐलान किया था कि वह उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ेंगे। उनका कहना था कि उत्तर प्रदेश में लुटेरी सरकार होने के कारण अभी तक उनको अच्छी सुविधाएं उपलब्ध नहीं हो पाई है जिनके कारण उन्हें छोटी छोटी चीजों के लिए दिल्ली आना पड़ता है। जिसके बाद बीजेपी के कई नेताओं ने अरविंद केजरीवाल तथा मनीष सिसोदिया को उत्तर प्रदेश के स्कूलों व स्वास्थ्य व्यवस्था का जायजा लेने के बाद एक बहस करने को कहा। इस चुनौती को स्वीकार करके मनीष सिसोदिया आज लखनऊ पहुंच गए हैं और सिद्धार्थ सिंह को बहस करने की चुनौती दी है।आपको बता दें कि केजरीवाल सरकार के तुरंत ऐलान के बाद भाजपा ने सिद्धार्थ सिंह द्वारा भाजपा के किए गए सारे कामों को गिनाया। और दिल्ली सरकार को कई मुद्दों पर फेल बताया।

आपको बता दें कि सिसोदिया मंगलवार को लखनऊ पहुंचे थे जहां आप के कार्यकर्ताओं द्वारा उनका स्वागत किया गया। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री ने प्रेस वार्ता के दौरान कहा कि उन्हें अच्छा लग रहा है कि उत्तर प्रदेश कि राजनीति में शिक्षा, स्वास्थ्य, बिजली और पानी जैसे मुद्दे भी उठ रहे हैं। उन्होंने भाजपा की सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में पिछले 4 सालों से भारतीय जनता पार्टी की सरकार है, लेकिन यूपी में लोग पूछ रहे हैं कि हमें क्या मिला? 5 साल में अरविंद केजरीवाल की सरकार में दिल्ली के सारे सरकारी स्कूल प्राइवेट का मुकाबला कर रहे हैं। परंतु उत्तर प्रदेश में हाल पहले जैसा ही है।

उन्होंने कहा कि जहां दिल्ली के बच्चे 90 और 95% मार्क्स लाकर अपना प्रदर्शन कर रहे हैं वहीं उत्तर प्रदेश के बच्चे अभी 70% पर ही टिके हुए हैं।दिल्ली में प्राइवेट स्कूलों की फीस बढ़ने नहीं दी गई परंतु यूपी में बच्चों की फीस 3 से 4 गुना अधिक बढ़ा दी गई है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बिजली और पानी 24 घंटे आता है परंतु उत्तर प्रदेश का हाल किसी से बताने की जरूरत नहीं है।उत्तर प्रदेश का हाल बताते हुए उन्होंने कहा कि मैं आपके क्षेत्र लखनऊ में हूं। और मैं आपकी दी हुई चुनौती को स्वीकार करते हुए बहस के लिए आ गया हूं।

नेहा शाह

Next Story
Share it