Top

लखनऊ के नक्शे पर जगमगाता चर्च....

लखनऊ के नक्शे पर जगमगाता चर्च....


क्रिसमस के महान पर्व में चंद दिन शेष रह जाने की वजह से घरों और बाजारों के साथ ही गिरजाघरों में भी सजावट का काम अपने अंतिम चरण में है। कोरोना काल में सूने पड़े गिरजाघरों में अब चहल-पहल देखने को मिल रही है। पूरे लखनऊ में 60 के करीब गिरजाघर मौजूद हैं, लेकिन इनमें कुछ प्रमुख गिरजाघर हैं जिनका गौरवमयी इतिहास है। ये ऐतिहासिक इमारतें सौहार्द, आस्था और इतिहास का बेजोड़ नमूना है। इन इमारतों में जहाँ एक ओर गंगा जमुनी तहज़ीब की झलक नज़र आती है तो वहीं दूसरी ओर बरसों से खड़ी ये इमारतें लोगों को इंसानियत का संदेश देती हैं।

कैथरडल चर्च, हज़रतगंज

नाव के आकार जैसा दिखने वाले कैथेड्रल चर्च का इतिहास शहर के कैथोलिक गिरिजाघरों में सबसे पुराना है। लखनऊ में हजरतगंज में स्थित यह सबसे प्रसिद्ध चर्च, 1860 में स्थापित किया गया था।आधुनिक कलाकृतियों और धार्मिक मुर्तियों के कारण इस चर्च की अपनी अलग ही पहचान है। क्रिसमस के दौरान हर साल 1 लाख से अधिक लोग कैथेड्रल चर्च आते हैं। कैथेड्रल चर्च का नाम लैटिन शब्द कतेद्रा से लिया गया है। कतेद्रा का मतलब होता है बैठका, जहां कैथोलिक समुदाय के धर्माध्यक्ष बैठते हैं।

कैथेड्रल चर्च के प्रति क्रिश्चियन ही नहीं, अन्य समाजों की भी विशेष आस्था है। विशेष दिवसों में तो यहां विश्वासीजनों की लंबी कतार लगी रहती है। लखनऊ का ईसाई समुदाय, बड़े हर्षोल्लास के साथ 25 दिसंबर को प्रभु येशु ख्रीस्त का जन्मोत्सव, क्रिसमस पर्व मनाने की तैयारी में जुटा हुआ है। भले ही तैयारियां शुरू हुई हो, लेकिन महामारी के हालत को ध्यान में रखते हुए सरकारी निर्देश अनुसार इस साल क्रिसमस कम धूमधाम के साथ मनाया जाएगा। 24 दिसंबर मध्य रात्रि की पूजन विधि (पवित्र मिस्सा) हजरतगंज में स्थित, शहर के मुख्य चर्च, सेंट जोसेफ कैथेड्रल में लखनऊ धर्म प्रांत के धर्माध्यक्ष बिशप जेराल्ड जॉन मथायस के नेतृत्व में अन्य पुरोहितों के साथ होगी। इस साल कोविड-19 प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए विभिन्न मोहल्ले के प्रतिनिधि, एक सीमित संख्या के साथ रात्रि के एवं दिन की पूजन विधियों में भाग लेंगे।

जब कि कैथेड्रल प्रांगण को क्रिसमस की रोशनी, झांकियां और क्रिसमस सितारों से सजाया जाएगा, क्योंकि कैथेड्रल प्रांगण काफी बड़ा है इसलिए किसी भी समय लगभग 200 लोगों को प्रवेश दिया जाएगा। महामारी को ध्यान में रखते हुए 25 दिसंबर शाम को होने वाला "क्रिसमस ड्रामा" एवं 26 दिसंबर शाम को होने वाला "वि.ऐ.पी क्रिसमस मिलन" को रद्द किया गया है।

-पादरी डाॅ. डोनाल्ड डिसूजा

Next Story
Share it