भारत की स्वर्णिम विकासयात्रा में उत्तर प्रदेश का सबसे महत्वपूर्ण स्थान है: स्वतन्त्र देव

भारत की स्वर्णिम विकासयात्रा में उत्तर प्रदेश का सबसे महत्वपूर्ण स्थान है:  स्वतन्त्र देव

लखनऊ 29 मई 2022। 'भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह द्वारा रविवार को अटल बिहारी वाजपई साइंटिफिक कन्वेंशन सेंटर में प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में दिए गए अध्यक्षीय भाषण के प्रमुख बिंदु' -

16 जुलाई 2021 को हम सभी जब एक साल पूर्व मिले थे, तब विधानसभा चुनाव की आहट हमारे आंगन में गूंज रही थी। उस समय भाजपा ने पंचायत चुनावों में शानदार विजयश्री का वरण किया था।

आज हम सभी जब पुनः मिल रहे हैं, तब हम तमाम चुनौतियों के बीच उत्तर प्रदेश में माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के मार्गदर्शन और आदरणीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की सरकार के कार्याे के आधार पर दूसरी बार पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने में कामयाब होकर यहां बैठे हैं।

इस शानदार जीत के हकदार भाजपा संगठन के तमाम देवतुल्य कार्यकर्ता हैं जिनके अथक परिश्रम से भाजपा को विजयश्री मिली हैं। अब हमारी नव-निर्वाचित सरकार अपने नये बजट के साथ लोक कल्याण संकल्प पत्र को गीता की तरह पूज्य मानकर गांव-गांव विकास की नई धारा बहाने को तैयार हैं।

उत्तर प्रदेश की सम्मानित जनता को आज इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी को पुनः सेवा का अवसर देने के लिये प्रदेश अध्यक्ष के तौर पर मैं धन्यवाद देता हूं।

आदरणीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी एवं आदरणीय योगी जी के संकल्प समर्पण से उत्तर प्रदेश विधासभा चुनाव में जो ऐतिहासिक विजय भारतीय जनता पार्टी को मिली है इसके लिए हमें संगठन सूत्र के साथ संगठन सूत्रधार का अभिवादन किये बिना हमारा यह समागम अधूरा रह जायेगा ।

इस विजय अभियान में गृहमंत्री श्री अमित शाह जी, माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा जी एवं राष्ट्रीय संगठन महामंत्री श्री बी एल संतोष जी, प्रदेश के प्रभारी आदरणीय श्री राधा मोहन सिंह जी, प्रदेश चुनाव प्रभारी श्री धर्मेन्द्र प्रधान सहित सभी सम्मानित सहप्रभारीगणों व केंद्र के वरिष्ठ नेताओं एवं माननीय मंत्रियों की भूमिका के लिए मैं अध्यक्ष के नाते प्रदेश इकाई की ओर से आभार व्यक्त करता हूँ। ऐतिहासिक जनादेश प्राप्ति के इस महाभियान में प्रदेश संगठन महामंत्री सुनील बंसल जी, सहित सभी सम्मानित प्रदेश, क्षेत्र एवं जिले के पदाधिकारीगण जिनके परिश्रम की पराकाष्ठा से भाजपा ने उत्तर प्रदेश में इतिहास रचा है, मैं उनका भी हृदय से अभिनन्दन करता हूँ ।

हमारी यह सफलता हम सबकी सम्मिलित सफलता है। यह इस बात का प्रमाण है कि, उत्तर प्रदेश की सरकार को माननीय नरेन्द्र मोदी जी एवं योगी आदित्यनाथ जी को जन-जन का आशीर्वाद प्राप्त है।

इसके लिए मैं प्रदेश के अपने करोड़ों देवतुल्य कार्यकर्ताओं को अथक परिश्रम के लिए उनको प्रणाम करता हूँ।

मैं इतना ही कहना चाहता हूं कि...

जो सपना हमने देखा था शैशव में भोले नयनों में।

स्वर्णिम इतिहास उमंग भरा चित्रित था, मन में, वचनों में।

यह देश बनायेंगे ऐसा, जिसमें स्वतंत्रता खिलती हो।

चिर शांति सुमति उन्नति, सरिता पग-पग पर आकर मिलती हो।

पग -पग पर पुनः प्रयाग बने, काशी-मथुरा कानन बरसाना।

युग युग से स्वप्न संजोये, जो हमको पूरे कर दिखलाना कानन में विकसाना॥

''भारत की स्वर्णिम विकासयात्रा में उत्तर प्रदेश का सबसे महत्वपूर्ण स्थान है। प्राचीन काल में सनातन संस्कृति के स्वर्णकाल के सृजन की यह धरा है। यह विश्व के आराध्य देव महादेव और राम-कृष्ण की धरा है। यह वह प्रदेश है जहां गंगा की धारा अविरल प्रवाहित होती है। मां गोमती की गोद में इस प्रदेश की राजधानी लखनऊ

जन-जन के रक्त में राजनीतिक विचारधारा को पोषने वाली इस धरा से भाजपा के शिखर पुरुष श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी ने देश का

मान-सम्मान बढ़ाया।

अविनाशी धरा काशी से स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी संपूर्ण विश्व को आलोकित कर रहे हैं। राजधानी से आदरणीय राजनाथ सिंह जी रक्षामंत्री के रूप में देश की सीमाओं की रक्षा का दायित्व निभा रहे हैं। मेरे कहने का तात्पर्य मात्र इतना है कि, उत्तर प्रदेश भाजपा का राजनीतिक कार्यकर्ता होने के नाते हम सभी को अपने इस सौभाग्य पर गर्व है।

''आज भाजपा के केन्द्रिय नेतृत्व ने जिस तरह से करोड़ों कार्यकर्ताओं को एक सूत्र में पिरोते हुए अपनी संगठनात्मक नीतियों से देशभर में भाजपा को सशक्त किया है। वह विश्व के किसी देश के इतिहास में देखने, पढ़ने और सुनने को नहीं मिलेगा।

कार्यकर्ताओं के सतत परिश्रम से भाजपा हर घर, हर गली, हर गांव हर गली, हर व्यक्ति के मन तक पहुंच बनाने में सफल रही है। माननीय मोदी जी की सरकार के सफलतम् 8 वर्ष भी कल पूर्ण हो रहे हैं। इन आठ वर्षाे में भाजपा सरकार ने प्रदेश के हर व्यक्ति के सरोकारी विकास को विस्तार दिया है।

इसका पूरा श्रेय भारतीय जनता पार्टी के संगठन, शक्ति, संकल्प और निरंतर प्रयत्नशीलता को जाता है।

हमारी विचारधारा के पितृपुरुष तथा हमारे पथप्रदर्शक पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी ने कहा था-"मानव शरीर के सभी अंग जिस प्रकार स्वाभाविक रूप से क्रियाशील रहते हैं, उसी प्रकार राष्ट्र के विभिन्न घटक भी राष्ट्र सेवा के लिए निरंतर प्रयत्नशील रहते हैं।"

प्रदेश में बिना रुके बिना थके हमारे कर्मठ कार्यकर्ता दिन-रात परिश्रम करते रहे। आगामी विधान सभा चुनाव को लेकर हमने विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम तथा अभियान चलाये।

''100 दिन 100 कार्य योजना को पार्टी ने क्रियान्वित किया। जिसका परिणाम रहा कि, भाजपा ने न केवल विधानसभा चुनावों में पूर्ण बहुमत प्राप्त किया, बल्कि विधान परिषद चुनावों में हमने पूर्ण सफलता अर्जित करते हुये पहली बार विधान परिषद में बहुमत पाया है।

'' जीत के ध्येय के साथ हमने सभी मोर्चों, जातियों, वर्गों, श्रेणियों बुनकर-महिला, व्यवसायी, सहकारिता, चिकित्सा, विधि, एनजीओ, व्यापारिक संगठन, किसानों, धार्मिक संगठनों, अल्पसंख्यकों, युवाओं, मीडिया स्तर पर कार्यकर्ताओं के सम्मेलन, शिक्षण संस्थाओं तथा प्रबुद्ध जनों के सम्मेलन आयोजित किये और सभी को अपनी विचारधारा से अवगत कराया।

'' मा. प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी, माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जे.पी. नड्डा जी के मार्गदर्शन और आदरणीय योगी जी के यशस्वी नेतृत्व में हमने विधान सभा चुनाव में इतिहास तो रचा ही है, तमाम मिथकों व भ्रमों को भी तोड़ा है।

''इससे हमने प्रदेश ही नहीं, देश की राजनीति को नई दिशा दी है। जिसमें उत्तर प्रदेश में 37 वर्षों बाद किसी दल की दोबारा सरकार में वापसी हुई है।

''यह ऐतिहासिक विजय, यह अभूतपूर्व विजय वंशवाद, परिवारवाद और तुष्टिकरण की शोषणकारी राजनीति पर राष्ट्रवाद और लोकतांत्रिक राजनीति की विजय है।

''यह युगांतकारी परिवर्तन हमारे निर्णायक नेतृत्व, अद्वितीय संगठन शक्ति और देवतुल्य कार्यकर्ताओं के तप, त्याग, संकल्प, समर्पण का ही अमृत परिणाम है।

'' इस विजय पताका ने हमें आत्म गौरव दिया है। राष्ट्र गौरव वापसी का अमृत दिया है। सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास की कल्याणकारी नीति को प्रमाणिकता दी है।

'' यह यात्रा अटल-अविरल रहे, इस संकल्प के साथ हमें संगठन शक्ति को आगे भी सशक्त करना है। श्रद्धेय अटल जी के वे शब्द मुझे याद हैं।

उजियारे में, अंधकार में,

कल कहार में, बीच धार में,

घोर घृणा में, पूत प्यार में,

क्षणिक जीत में, दीर्घ हार में,

जीवन के शत-शत आकर्षक,

अरमानों को ढलना होगा।

कदम मिलाकर चलना होगा..

कदम मिलाकर चलना होगा।

''हमने अपने कदम मिलाये, बढ़ाये और विजय की ओर उन्मुख हो गये। आज परिणाम दुनिया के सामने है। आज कनाडा से जब मां अन्नपूर्णा जी की मूर्ति लाई जाती है, कोसों की पावन यात्रा के बाद काशी में प्राण प्रतिष्ठा की जाती है तब जन-जन का मन जिस तरह से आनंदित होता है। इसको हमने देखा है। मित्रों, यह देश के सांस्कृतिक पुनर्जागरण का काल है और इसके प्रणेता हमारे आदरणीय प्रधानमंत्री जी हैं।

''हमें पं. दीनदयाल उपाध्याय, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी, श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जैसी विभूतियों की प्रेरणा तथा राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय जे.पी. नड्डा जी का नेतृत्व एवं प्रधानमंत्री आदरणीय नरेन्द्र मोदी जी की पूर्ण पारदर्शी एवं भ्रष्टाचार मुक्त शासन प्रणाली एवं हमारे यशस्वी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की स्वच्छ छवि तथा करोड़ों कार्यकर्ताओं के परिश्रम की पराकाष्ठा और बूथ-बूथ संगठन के सशक्त ढांचे एवं सरोकारी राजनीति के बदौलत 2024 में पुनः एक बार प्रचंड जनादेश के लिये मिलकर कार्य करना है। अपने अभियानों को गतिशील बनाना है।

'''अब मेरा मानना है कि, समावेशी राजनीति की जिस सीढ़ी पर प्रदेश की भाजपा ने चढ़ना आरंभ किया है। वह रूकना नहीं चाहिये। हमको इस पथ पर निरंतर चलते रहना है। बिना थके, बिना रूके, अवरोधों को ढकेलते हुये। हम रहे न रहे, लेकिन यह मशाल जो हमने मिलकर जलाई है.. वह निरंतर प्रज्ज्वलित रखनी है। इस अबाध यात्रा में मुझसे भी कुछ गलतियां हुईं होंगी। मैंने भी गुस्सा जताया होगा। किसी का मन दुखा होगा तो कोई कुछ न मिलने से दुखी होगा। लेकिन हम सब एक ध्येय के लिये कार्यरत हैं। यह ध्येय पूज्य है। इसी के सहारे हमें हर समय गतिमान रहना है।

इसलिये, अपनी आस्था, विश्वास और पुरूषार्थ से उत्तर प्रदेश को उत्तम प्रदेश बनाते हुए भारत माता की समृद्दि और सुरक्षा को सुनिश्चित करते हुए उसकी प्रसिद्धि में वृद्धि करने के लिए पूरी क्षमता से हम फिर एकजुट होकर जुटेंगे।

इसी विश्वास के साथ आप सभी का बहुत-बहुत आभार।

भारत माता की जय। वंदे मातरम्। जय श्रीराम।

Tags:    UP swatantradev 
Next Story
Share it