उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव और उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव को सामंतवादी सोच का पोषक बताया

उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव और उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव को सामंतवादी सोच का पोषक बताया


लखनऊ 30 नवंबर 2022। प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव और उनके चाचा शिवपाल सिंह यादव को सामंतवादी सोच का पोषक बताया। उन्होंने कहा कि इसी सामंतवादी सोच के चलते समाजवादी पार्टी की सरकार और संगठन दोनों मे ही चाचा भतीजा का ही राज चला। ये कुनबा पिछडे़, दलित, शोषित, वंचित और गरीब को आगे बढ़ते देखना पसंद नहीं करता। उन्होंने कहा कि आज शिवपाल सिंह यादव जी ने जिस अमर्यादित भाषा का प्रयोग रघुराज सिंह शाक्य के लिए किया है वह उनकी सामंतवादी सोच का परिचायक है। श्री मौर्य ने कहा कि शिवपाल सिंह जी आप और आपके भतीजे सपा प्रमुख अखिलेेश यादव की गालियों का जवाब मैनपुरी की जनता सपा की साईकिल पंचर कर और कमल खिलाकर रघुराज सिंह शाक्य जी को मैनपुरी का सांसद बनाकर देगी।


उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने पूर्व मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव को पिछड़ा विरोधी बताते हुए कहा कि वे और उनका परिवार समाजवादी नहीं बल्कि पिछड़ों के विरोधी हैं। ये लोग अपने अलावा किसी अन्य पिछडे़, दलित और गरीब को आगे बढ़ते देखना नहीं चाहते। उन्होंने विधानसभा सत्र की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि एक पिछड़ा केशव प्रसाद मौर्य दूसरी बार प्रदेश का उपमुख्यमंत्री कैसे बन गया, इसकी पीड़ा सपा प्रमुख के अहंकार भरे शब्दों में सबके सामने आ गई थी।


उन्होेंने कहा कि एक मुख्यमंत्री का बेटा जो स्वयं भी मुख्यमंत्री रहा हो उसने जिस तरह की भाषा का प्रयोग किया उसका जवाब मै भी दे सकता था लेकिन मेरे संस्कार ऐसे नहीं है। श्री मौर्य ने कहा कि रघुराज सिंह शाक्य के बारे में जिस तरह के बोल शिवपाल सिंह यादव ने बोले हैं उसका जवाब जनता अपने मत के माध्यम से देगी।


उन्होंने ने कहा कि सिर्फ अखिलेश यादव ही नहीं बल्कि उनके चाचा शिवपाल यादव, रामगोपाल यादव और पूरे परिवार की केवल एक ही सोच रही है कैसे सत्ता सरकार में बने रहकर भ्रष्टाचार, गुण्डागर्दी और अराजकता के बल पर आमजन में अपना खौफ और आतंक कायम रखा जाए। कौन नहीं जानता कि जमीनों पर कब्जे और अपराधियों, गुण्डों को संरक्षण कौन देता था। कौन नहीं जानता कि इस परिवार के आतंक के साय में बूथों पर कब्जे हो जाते थे। गुंडे और अपराधी आमजनमानस में भय का माहौल बनाकर मतदान को प्रभावित करते थे, लेकिन अब ऐसे लोगों को समझ लेना चाहिए कि उनकी गुंण्डागर्दी अब नहीं चलने वाली है।


उपमुख्यमंत्री ने कहा कि अब चुनावो में वोटों की लूट और बूथ कैप्चरिंग के बल पर चुनाव जीतने वाले लोगों का जमाना चला गया। जिस तरह से अखिलेश यादव और उनके परिवार के लोगों के द्वारा मैनपुरी में लोगों डरा धमकाकार वोट लेने की कोशिश की जा रही है इसमें वे कभी सफल नहीं होंगे। भाजपा मैनपुरी सहित खतौली व रामपुर में भी भारी बहुमत से विजय होगी।


Next Story
Share it