शिवभक्त अहिल्याबाई

शिवभक्त अहिल्याबाई ने देश में अलग-अलग जगह पवित्र नदियों के किनारों ,घाटों के निर्माण कराए।इस अभियान में अगले इंजन का नाम शिवभक्त अहिल्याबाई के नाम पर रखा गया |

महारानी लक्ष्मीबाई

महारानी लक्ष्मीबाई अंग्रेजों के खिलाफ अंतिम साँस तक लड़ीं। भारतीय रेलवे ने झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई को सम्मान देते हुए उनके नाम से रेलवे इंजन का नामकरण किया।

रानी चिन्नम्मा

एक रेलवे इंजन का नाम लोहे के चरित्र को प्रदर्शित करने वाली रानी चिन्नम्मा के नाम पर भी रखा गया, जिन्होंने 1824 में अंग्रेजों की हड़प नीति के विरुद्ध सशस्त्र संघर्ष शुरू किया था.

रानी अवंतीबाई

अवंतीबाई रेवांचल में मुक्ति आंदोलन की सूत्रधार रहीं। वेलु नचियार ने तमिलनाडु में अंग्रेजों के खिलाफ संघर्ष किया।

रानी झलकारी बाई

रेलवे ने इस पहल में अगला इंजन झलकारी बाई के नाम से शुरू करते हुए उन्हें सम्मान दिया.