क्यों मनाते हैं अंतरराष्ट्रीय बाल पुस्तक दिवस
इंटरनेशनल बोर्ड ऑन बुक्स फॉर यंग पीपल 1967 से हंस क्रिश्चियन एंडरसन के जन्मदिन पर या उसके आसपास से अंतरराष्ट्रीय बाल पुस्तक दिवस मना रहा है.
प्रत्येक वर्ष होता है विभिन्न राष्ट्रीय प्रायोजकों का चुनाव
द इंटरनेशनल बोर्ड ऑन बुक्स फॉर यंग पीपल द्वारा प्रत्येक वर्ष अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बच्चों के पुस्तक दिवस का प्रतिनिधित्व करने के लिए विभिन्न राष्ट्रीय प्रायोजकों का चुनाव किया जाता है.
कौन थे हंस क्रिश्चियन एंडरसन
हंस क्रिश्चियन एंडरसन का जन्म 2 अप्रैल 1805 को डेनमार्क के ओडेंस में हुआ था. 4 अगस्त 1875 को 70 साल की उम्र में उनकी मृत्यु हो गई थी. उनके पिता, जिन्हें हंस भी कहा जाता है कि मृत्यु 1816 में हो गई थी. उनकी मां ऐनी मैरी ने 1818 में पुनर्विवाह कर लिया था.
विषय 2021: द म्यूजिक ऑफ़ वर्ड्स.
इंटरनेशनल बोर्ड ऑन बुक्स फॉर यंग पीपल (IBBY) द्वारा पढ़ने के प्रति प्यार को प्रेरित करने और बच्चों की पुस्तकों पर ध्यान देने के लिए 1967 से प्रतिवर्ष 2 अप्रैल को किया जाता है.