फिल्म नोआर में क्लोज अप दृश्य

फिल्म नोआर में महिला पात्रो को एक खतरनाक सुन्दरी के रूप में प्रस्तुत किया गया है \ महिला किसी पुरुष से कम नहीं थी वो उनके उन सभी काम को कर रही थी जिसमें अमेरिका में एक समय सिर्फ पुरुष ही काम किया करते थे \

मिड क्लोज अप शॉट

इस तरह के शॉट का इस्तेमाल दर्शको को महिला पात्रो की कामुकता के साथ जोड़ना होता था \ इसमें लाइट के इस्तेमाल से उनके कामुक व्यवहार को प्रमुखता से दिखाया जाता था \ अपने खूबसूरती से लोगो को फंसा लेना और उनसे अपना काम निकलवाने के कई चरित्र इस तरह की फिल्म में देखे जा सकते है \

मिड शॉट में खुबसूरत महिला पात्र

फिल्म नोआर की खासियत उसकी महिला पात्र होती थी जो पुरुषो की बराबरी करते हुए हर वो काम करती नजर आती थी जहाँ पर पुरुषो का एकाधिकार था \ इन फिल्मों ने महिला पात्रो को उनके पारंपरिक भूमिकाओ से निकाल कर एक नए रूप में प्रस्तुत किया \

मिड लॉन्ग शॉट में फेम्मे फेटेल

अपनी खूबसूरती के जाल में लोगो को फसाना और उन्हें अपने मकसद के लिए इस्तेमाल करना इन खुबसूरत सुन्दरियों का काम था \ वो इसे अपने खुबसूरत जिस्म और पोशाक से अंजाम देती थी \ महिला पात्रो का पुरुष पात्रो की तरह सेक्स संबंधो में सहज होना भी इसकी एक खास बात थी \

लॉन्ग शॉट का फिल्म नोआर में इस्तेमाल

इस तरह के शॉट में कंट्रास्ट का बखूबी इस्तेमाल किया जाता था \ ज्यादातर फिल्मे उस समय ब्लैक एंड वाइट हुआ करती थी पर उन फिल्मो में कमाल के दृश्य थे \ इन दृश्यों में ये सुंदरिया अपना जलवा बिखेरती थी \ ये वो दौर था जब समाज द्वितिय विश्व युद्ध के दौर में था और उससे निकलने की कोशिश कर रहा था \