Top

आयुर्वेद में छिपा है हाई ब्लड प्रेशर और हाइपरटेंशन का इलाज !

आयुर्वेद में छिपा है हाई ब्लड प्रेशर और हाइपरटेंशन का इलाज !

अंकिता सिंह- Bachpan Express
आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में खुद का ख्याल रख पाना बहुत मुश्किल हो गया है। जहां काम की वजह से हम एक्साइज नहीं कर पाते, और जल्दी-जल्दी में हम फ्रोजन फूड्स की तरफ बढ़ते जा रहें। जिससे हमारे शरीर को पोषक तत्व नही मिल पाता।ऐसे में कई बीमारियां हमारे शरीर में घर कर लेती हैं। और आजकल हाइपरटेंशन होना एक आम बात हो गया है।आज के युवाओं में भी हाइपोटेंशन देखा जा सकता है,हाइपोटेंशन एक ऐसी बीमारी है जो धीरे-धीरे शरीर के सारे अंगों को कमजोर करने लगती है ।आपके सोचने समझने की क्षमता को घटा देती है। यदि आप हाइपोटेंशन से पीड़ित हैं तो सही और उचित खानपान से आप उसे कंट्रोल कर सकते हैं।आयुर्वेद में इसका उपचार सम्भव है। ऐसा माना जाता है कि हाइपोटेंशन वाले लोगों को नमक का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि नमक इसे और बढ़ाता है, तो ऐसे में सेंधा नमक का सेवन करना आपको लाभ पहुंचाएगा। हाइपोटेंशन से दूर रहने के लिए बाहर के जंक फूड अधिक तेल वाले खाने अधिक नमक मिर्च इन सब से बचकर रहेंआयुर्वेद के अनुसार चुकंदर, आंवला, लाल और काला अंगूर, गाजर, पालक, मूली, अदरक, लहसुन, तुलसी के पत्ते, नीम के पत्ते, नींबू का रस, काली मिर्च, दालचीनी, अलसी, इलायची, सौंफ, जीरा, चोकर युक्त आटा, ब्राउन राइस, तिल और चावल की भूसी, पपीते का नियमित सेवन करने से ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है।

Tags:    ayurveda 
Next Story
Share it