डाक्टरों के मुताबिक कोरोना काल में मधुमेह रोगियों को रखना होगा विषेश ध्यान.......

डाक्टरों के मुताबिक कोरोना काल में मधुमेह रोगियों को रखना होगा विषेश ध्यान.......


स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग सोलन की ओर से शुक्रवार को मधुमेह बीमारी के संबंध में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग सोलन की बीसीसी समन्वयक राधा चौहान ने प्रतिभागियों को मधुमेह के कारण तथा लक्षणों के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि रक्त में शुगर की मात्रा बढ़ जाने से मधुमेह होता है। बार-बार पेशाब आना, प्यास लगना तथा भोजन करने पर भी वजन का घटना मधुमेह के प्रमुख लक्षण हैं। पैरों की उंगलियों में शीघ्र ठीक न होने वाले घाव हो जाना, फोड़े-फुंसियां होना, रक्तचाप बढ़ना, जल्दी थक जाना तथा महिलाओं में मासिक स्त्राव में विकृति या समय पूर्व बंद होना जाना भी मधुमेह के लक्षण माने गए हैं।

मधुमेह की रोकथाम के लिए समय-समय पर जागरूकता अभियान भी चलाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय मधुमेह दिवस के अवसर पर ज़िले में 25 नवंबर से 2 दिसंबर तक सदर अस्पताल, रेफरल अस्पताल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सहित सभी सरकारी अस्पतालों में मुफ़्त जांच सह चिकित्सा परामर्श शिविर का आयोजन किया गया है। सदर अस्पताल पूर्णिया के ओपीडी में भी मधुमेह बीमारी से बचने के लिए मुफ़्त जांच सह चिकित्सा परामर्श शिविर का आयोजन किया गया है। जिसमें कोरोना काल में मधुमेह रोगियों को खास सावधानी बरतने के प्रति जागरूक किया गया जा रहा है और साथ ही आने वाले सभी मरीजों को नि:शुल्क जांच की जा रही है। इस दौरान मरीजों को मधुमेह से बचाव के लिए व्यायाम करने, शरीर का वजन कम करने के साथ ही देखभाल व प्रबंधन के संबंध में जागरूक भी किया जा रहा है।


Next Story
Share it