कोरोना का कहर झेल रहे लोगों के लिए जानलेवा बना ब्लैक फंगस, जा रही है मरीजों की आंखों की रोशनी.....

कोरोना का कहर झेल रहे लोगों के लिए जानलेवा बना ब्लैक फंगस, जा रही है मरीजों की आंखों की रोशनी.....

कोरोना महामारी के बीच नए रोग ब्लैक फंगस यानी म्यूकोरमायकॉसिस अब कोविड पीड़ितों की जान का दुश्मन बन गया है. महराष्ट्र और दिल्ली के बाद मेरठ में ब्लैक फंगस से पीड़ित दो कोविड मरीज़ मिले हैं. दोनों मरीज मुज़फ्फरनगर और बिजनौर के रहने वाले हैं.

दोनों मरीजों का इलाज मेरठ के एक निजी अस्पताल में चल रहा है. अस्पताल के डॉक्टर संदीप गर्ग ने इसकी पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि मरीज स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है. इन मरीजों में वे सारे लक्षण हैं, जो महाराष्ट्र और दिल्ली के मरीज में मिलते रहे हैं. बताया कि यह बीमारी उन मरीजों में ज्यादा होता है, जो इम्युनोसप्रेशन की दवाएं लेते हैं. जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है. मरीजों की स्थिति पर कड़ी नजर रखी जा रही है.

न्यूटिमा अस्पताल के डॉक्टर ने बताया कि एक मरीज मुजफ्फरनगर और दूसरा बिजनौर का है. दोनों की अस्पताल में अच्छी तरह से देखभाल और उपचार किया जा रहा है. किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी लखनऊ के रेस्पिरेटरी विभाग के प्रमुख डॉ सूर्यकांत ने बताया कि कोरोना संक्रमण के बाद पहले 9 दिन बहुत अहम हैं.

संक्रमण के साथ अगर मरीज में ब्लैक फंगस की शिकायत हुई तो उसकी जान पर खतरा बढ़ सकता है. ब्लैक फंगस नाक, फेफड़ों और मस्तिष्क को नुकसान पहुंचा सकता है. ब्लैक फंगस बीमारी में आंख, गाल और नाक के नीचे लाल हो जाता है. शरीर में दर्द, बुखार, खांसी, सिर दर्द, सांस लेने में दिक्कत, खून की उल्टी, मानसिक स्वास्थ्य पर असर, देखने में दिक्कत, दांतों में दर्द, सीने में दर्द इस बीमारी के लक्षण हैं.

अराधना मौर्या

Next Story
Share it