वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक ने असम समेत तमिलनाडु कर्नाटक और उड़ीसा को भेजी कोवैक्सीन की खेप....

वैक्सीन निर्माता भारत बायोटेक ने असम समेत तमिलनाडु कर्नाटक और उड़ीसा को भेजी कोवैक्सीन की खेप....


देश में कोरोनावायरस से इलाज के लिए वैक्सीन का निर्माण कर रही कंपनी भारत बायोटेक ने शुक्रवार को कहा कि उसने गुजरात समेत असम और तमिलनाडु तथा कर्नाटक उड़ीसा, विभिन्न राज्यों को कोवैक्सीन की सप्लाई कर दी है।

आपको बता दें कि हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक को वैक्सीन सप्लाई को लेकर दिल्ली सरकार की आलोचना सहनी पड़ी। जिसके बाद कंपनी ने बताया कि उन्होंने केरल और उत्तराखंड को भी वैक्सीन भेज दिया है।

भारत बायोटेक के को-फाउंडर और संयुक्त प्रबंधन निदेशक सुचित्रा ईला ने ट्वीट करके जानकारी दी कि कोवैक्सीन को गांधीनगर, गुवाहटी, चेन्नई, हैदराबाद, बेंगलूरू और भुवनेश्वर भेजा गया। इसके लिए हमारे उन सभी कर्मचारियों को धन्यवाद जिन्होंने रमजान के पवित्र महीने के दौरान लगातार काम किया।

इससे पहले उन्होंने गुरुवार को देर रात जानकारी दी कि केरल और उत्तराखंड को वैक्सीन सप्लाई कर दी गई है, परंतु अभी उन्होंने डोज के मात्रा में कुछ नहीं बताया है।

आपको बता दें कि दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने भारत बायोटेक कंपनी पर जमकर तंज कसा था। उन्होंने 12 मई को बताया कि भारत बायोटेक ने कहा है कि वह राज्य सरकार को वैक्सीन की अतिरिक्त खेप नहीं दे सकते।

इसके बाद संयुक्त प्रबंध निदेशक ने ट्वीट करते हुए कहा कि यह दुखद है कि कुछ राज्य टीके की आपूर्ति के मामले में कंपनी की मंशा को लेकर शिकायत कर रहे हैं। इतना ही नहीं उन्होंने बताया कि कंपनी इससे पहले 10 मई को 18 राज्यों को कोवैक्सीन की आपूर्ति कर चुकी है।

दिल्ली सरकार ने हाल ही में बयान देते हुए कहा था कि कोवैक्सीन की स्टॉक खत्म होने को है, इसलिए 18-44 साल के लोगों का वैक्सीनेशन प्रभावित हो सकता है। जिसके बाद दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा था कि कोवैक्सीन का स्टॉक खत्म होने के कारण 17 स्कूलों में बनाए गए करीब 100 सेंटर को बंद करना पड़ा है।

बता दें कि भारत बायोटेक ने एक पत्र में कहा कि वह अनुपलब्धता के चलते दिल्ली सरकार को संबंधित सरकारी अधिकारी के निर्देश के तहत डोज उपलब्ध नहीं करा सकता है। इसका मतलब केंद्र सरकार टीके की आपूर्ति को नियंत्रित कर रही है।

नेहा शाह

Next Story
Share it