आईएमए ने बाबा रामदेव के खिलाफ पीएम मोदी को लिखा पत्र, देशद्रोह का केस दर्ज करने की मांग.....

आईएमए ने बाबा रामदेव के खिलाफ पीएम मोदी को लिखा पत्र, देशद्रोह का केस दर्ज करने की मांग.....


बाबा रामदेव पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन भड़का हुआ है। उसने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक चिट्ठी लिखी है। इसमें एसोसिएशन ने कहा है कि पतंजलि के मालिक रामदेव के वैक्‍सीनेशन पर गलत सूचना के प्रचार को रोका जाना चाहिए।

उसने योग गुरु के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा चलाने की मांग की है। एक वीडियो में उन्होंने दावा किया कि 10 हजार डॉक्टर और लाखो लोग दोनों डोज के बावजूद मर चुके हैं। उनके खिलाफ देशद्रोह के आरोप में मुकदमा दर्ज होना चाहिए।"

आईएमए ने कहा है, ''हम स्वास्थ्य मंत्रालय और आईसीएमआर या नेशनल टास्क फोर्स की ओर से जारी गाइडलाइंस और प्रोटोकॉल के तहत अस्पतालों में आने वाले लाखों लोगों का इलाज कर रहे हैं।

यदि कोई यह दावा करता है कि ऐलोपैथिक दवाओं की वजह से लोग मरे हैं तो यह मंत्रालय को चुनौती है जो हमें इलाज का प्रोटोकॉल देता है।'' हालांकि विवाद बढ़ा तो बाबा ने तुरंत सफाई भी दे डाली, लेकिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने बाबा रामदेव को तल्ख पत्र लिख उनकी सफाई को नाकाफी बताकर कड़ी नाराजगी जाहिर की।

जिसके बाद बाबा ने अपना बयान वापस तो ले लिया, लेकिन अगले ही दिन आईएमए पर एलोपैथी से संबंधित 25 सवालों का गोला दाग दिया। इस पर आईएमए ने एलोपैथी को लेकर बाबा के ज्ञान पर तो सवाल उठाए ही साथ ही सार्वजनिक माफीनामा न होने की दशा में एक हजार करोड़ के मानहानि के दावे तक की धमकी दे डाली।

अराधना मौर्या

Next Story
Share it