ओडिशा में वायरस का संक्रमण हुआ कम। डॉक्टरों ने दी जानकारी फिर भी कहां सतर्कता बरतना जरूरी

ओडिशा में वायरस का संक्रमण हुआ कम। डॉक्टरों ने दी जानकारी फिर भी कहां सतर्कता बरतना जरूरी

ओडिशा में कोरोना वायरस की तीसरी लहरा आने की कोई संभावना नहीं दिखाई दे रही है। जिस चीज की जानकारी शिक्षा एवं प्रशिक्षण निदेशक डॉ सीबीके मोहंती ने दी है।आपको बता दें कि सोमवार को मीडिया के सामने अपनी प्रतिक्रिया रखते हुए डॉक्टर ने कहा कि वर्तमान समय में प्रदेश में 1600 से 2000 हजार के बीच दैनिक संक्रमित मरीज सामने आ रहे हैं।

गजपति एवं नुआपड़ा जिले में संक्रमण के मामले अब शून्य आ रहे हैं। 8 जिलों में संक्रमण के मामले इकाई अंक में है। अन्य 20 जिलों में संक्रमण संख्या भी नियंत्रण में है। ऐसे में तीसरी लहर ओडिशा में कब आएगी एवं इसका क्या प्रभाव पड़ेगा इस संदर्भ में अभी से कहना या अनुमान लगाना ठीक नहीं होगा।

इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि राज्य में भले वायरस का संक्रमण कम हो रहा है परंतु फिर भी हमें सतर्क और सुरक्षित रहना होगा। क्योंकि देश में कई ऐसे राज्य हैं जहां तीसरी लहर दस्तक दे चुकी है। उन्होंने कहा कि कोविड नियम का अनुपालन करना, मास्क पहनना, व्यक्तिगत दुराव का अनुपालन करना, इनडोर गैदरिंग से हमें बचना होगा।

अगले दो से तीन महीने तक हमें सतर्क रहना होगा। उन्होंने बताया कि विभिन्न दिशाओं का अवलोकन करने के बाद अनलाक के बारे में निर्णय लिया जाएगा।

बता दें कि प्रदेश में कोरोना से जो लोग मर रहे हैं उन्हें मृत्यु प्रमाण पत्र दिया जा रहा है। इसके लिए राज्य सरकार की तरफ से 862 करोड़ रुपये से स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में आधारभूमि तैयार करने का लक्ष्य रखा गया है। विभिन्न जिलों के सामूहिक स्वास्थ्य केन्द्र में 20 बेड वाले कोविड केन्द्र तथा कुछ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में 6 बेड वाले कोविड केन्द्र बनाने की योजना है।

उक्त 862 करोड़ रुपये में से केन्द्र एवं राज्य का 60:40 प्रतिशत का अंशदान है। केन्द्र सरकार 517.18 करोड़ रुपया तथा राज्य सरकार 344.78 करोड़ रुपये खर्च करेगी।

नेहा शाह

Next Story
Share it