कोविड-19 की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए बोले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ - ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट' की नीति कोविड-19 को फिर करेगी समाप्त

कोविड-19 की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए बोले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ - ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट की नीति कोविड-19 को फिर करेगी समाप्त

कोरोनावायरस वैश्विक महामारी के रूप में संपूर्ण विश्व में छाया हुआ है। बात करें भारत की तो भारत में वायरस की दूसरी लहर का प्रकोप सबसे अधिक देखने को मिला है, जिसके बाद करीब जून के महीने में सरकार की नीतियों द्वारा इस लहर पर काबू पाया गया।


बता दें कि उत्तर प्रदेश में एक बार फिर कोविड-19 से संक्रमित लोगों का आंकड़ा बढ़ने लगा है। जिसके बाद एक अहम बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश देते हुए कहा कि राज्य सरकार की 'ट्रेस, टेस्ट एण्ड ट्रीट' की नीति कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने में उपयोगी सिद्ध हुई है। नीति के प्रभावी क्रियान्वयन से प्रदेश में कोविड संक्रमण के मामलों में आशानुकूल कमी आयी है। उन्होंने कोरोना से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाए रखने के निर्देश दिए हैं।


गौरतलब है कि इस बैठक का आयोजन प्रदेश के मुख्यमंत्री के सरकारी आवास पर उच्च स्तरीय बैठक और कोविड-19 की समीक्षा करने के लिए की गई थी। इतना ही नहीं इस बैठक के दौरान उन्होंने वित्त विभाग को निर्देश दिया कि कोरोना का काल में राजकीय कर्मियों के स्थगित किए गए महंगाई भत्ते का प्रस्ताव प्रस्तुत करें।


स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा प्रस्तुत किए गए आंकड़ों के अनुसार 24 घंटे में राज्य में कोविड-19 संक्रमण के तकरीबन 90 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 22 मामले से कानपुर जनपद के हैं। परंतु इस बीच राहत की बात है कि इस अवधि के दौरान 116 संक्रमित व्यक्तियों को उपचार करके स्वस्थ भी किया गया। मांडू की बात करें तो इस समय उत्तर प्रदेश एक्टिव मामलों की संख्या 768 है। पिछले 24 घण्टों में प्रदेश में कुल 2,53,094 कोरोना टेस्ट किये गये। राज्य में अब तक कुल 06 करोड़ 47 लाख 56 हजार 42 कोरोना टेस्ट सम्पन्न हो चुके हैं।


जानकारी के लिए बता दें कि उत्तर प्रदेश में कोविड बेड की संख्या में वृद्धि, दवाओं के प्रोक्योरमेंट तथा चिकित्सा कर्मियों की ट्रेनिंग का कार्य सुचारु रूप से संचालित किया जा रहा है। राज्य में ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना का कार्य तेजी से चल रहा है। स्वच्छता, सैनिटाइजेशन तथा फॉगिंग की कार्यवाही नियमित रूप से संचालित की जा रही है।



मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बैठक के दौरान कोविड-19 वैक्सीनेशन के कार्य की भी समीक्षा लेते हुए निर्देश दिया कि कोरोना टीकाकरण का कार्य निर्बाध एवं सुव्यवस्थित ढंग से संचालित किया जाए। सभी वैक्सीनेशन सेण्टर पर पर्याप्त संख्या में वैक्सीन की उपलब्धता रहे। कोविड वैक्सीनेशन के लिए ऑनलाइन पंजीकरण की प्रक्रिया को प्रोत्साहित किया जाए।


नेहा शाह


Next Story
Share it