गुस्से से अपनी ही हालत बिगाड़ लेते हैं आप, यकीन न हो तो खुद पढ़ लीजिए यह स्टडी

  • whatsapp
  • Telegram
  • koo
गुस्से से अपनी ही हालत बिगाड़ लेते हैं आप, यकीन न हो तो खुद पढ़ लीजिए यह स्टडी

क्या आपको भी छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा आता है. आप काफी ज्यादा अग्रेसिव हो जाते हैं. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह आपकी बर्बादी का कारण बन सकता है. यह सीधा आपकी सेहत से जुड़ा हुआ है.अगर आप किसी पर चिल्ला रहे हैं तो बात-बात पर झल्ला रहे हैं. तो ब्लड वेसल्स को इस्किमिया पर रिस्पॉन्ड करना जिसके कारण ब्लड फ्लो को रेगुलेट करने के साथ-साथ कार्डियोवैस्कुलर होमियोस्टेसिस का खतरा बढ़ता है.

दिल के लिए अच्छा नहीं है गुस्साजर्नल ऑफ अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन में छपी एक स्टडी के मुताबिक एंडोथेलियम-डिपेंडेंट वासोडिलेशन पर उकसाए गए एंग्जाइटी और उदासी का कोई स्टैटिकल रूप से कोई नेगेटिव प्रभाव नहीं पड़ा है. कैसे पहुंचता है नुकसान?जब हम ज्यादा गुस्सा करते हैं तो शरीर में हार्मोन स्टिमुलेट होता है.

जिसके कारण दिल की धड़कन बढ़ जाती है. जिसके कारण बीपी और हार्ट अटैक का खतरा काफी ज्यादा बढ़ जाता है. इसके कारण ब्लड वेसेल्स की इनर लाइनिंग को काफी ज्यादा नुकसान होता है. ब्लड सर्कुलेशन पर प्लेटलेट और लिपिड पर जमाव का कारण बनते हैं. जो बाद में दिल के दौरे का कारण बनता है. गुस्से में सिर्फ दिल को ही नहीं नुकसान होता है बल्कि इसकी वजह से चिड़चिड़ापन, थकान,इमोशनल डैमेज, नींद की कमी, डिप्रेशन और स्ट्रेस का खतरा काफी बढ़ जाता है. जिन्हें शराब, सिगरेट और ड्रग्स की लत होती है तो उन्हें काफी ज्यादा गुस्सा आता है. यह ओवरहेल्थ को काफी नुकसान पहुंचाता है.

गुस्से पर कैसे करें काबू?गुस्सा से काफी ज्यादा नुकसान होता है. इसलिए इस पर काबू रखने की कोशिश करनी चाहिए. आइए जानें एंगर कंट्रोल करने के लिए क्या-क्या कर सकते हैं. ब्रीदिंग एक्सरसाइज करेंयोग और मेडिटेशन का सहारा लेंअच्छी नींद लेंडाइट अच्छी लेंदोस्तों और फैमिली के साथ थोड़ा टाइम स्पेंड करें.

Next Story
Share it