देश में जल्द ही कोरोना वैक्सीन मिलने की उम्मीद, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी......

देश में जल्द ही कोरोना वैक्सीन मिलने की उम्मीद, स्वास्थ्य मंत्रालय ने दी जानकारी......


कोरोना वैक्सीन के आने की उम्मीद में सरकार ने वैक्सीन के रख रखाव समेत उसके वितरण व्यवस्था के लिए भी कमर कस ली है, देश में तैयार हो रहे कोरोना वायरस के तीन वैक्सीन को केंद्रीय ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (सीडीएससीओ) की अनुमति मिलने का इंतजार है।

स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा मिली जानकारी के अनुसार, केंद्र सरकार से लेकर ब्लॉक स्तर पर वैक्सीन लगाए जाने का तैयारी पूरी है और देश के सभी ब्लॉक में गठित टास्क फोर्स की बैठक 15 दिसंबर तक पूरा करने को कह दिया गया है। इसके साथ ही वैक्सीन लगाये जाने वाले प्राथमिकता समूहों से लेकर उन्हें लगाने वालों की सूची भी तैयार कर ली गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा कि हमारे देश में पॉजिटिव केसों की संख्या में लगातार गिरावट आ रही है और वर्तमान में ऐसे मरीजों की संख्या दर 6.5 प्रतिशत है, जबकि पिछले सात दिनों का पॉजिटिविटी रेट 3.2% है।

उन्होंने यह भी कहा कि प्रति दस लाख लोगों पर कोरोना वायरस के मामलों में अगर हम विश्व के बड़े देशों से भारत की तुलना करें तो वहां भारत से सात-आठ गुना ज़्यादा मामले हैं। लेकिन इसका मतलब यह बिलकुल नहीं की हम इसे लेकर किसी भी तरह की लापरवाही करें।

इसके साथ ही देश में कोरोना के वैक्सीन की स्थिति साफ करते हुए स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि कुल नौ वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल के स्टेज में है, जिसमें दो सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया का कोविशील्ड और भारत बायोटेक का कोवैक्सीन तीसरे फेज के एडवांस स्टेज में है।

सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक ने इमरजेंसी इस्तेमाल की इजाजत मांगी है। सीरम इंस्टीट्यूट ने ब्रिटेन और ब्राजील में हुए ट्रायल का डाटा पेश किया है। लेकिन भारत बायोटेक के तीसरे फेज के ट्रायल का डाटा अभी नहीं आया है।

अराधना मौर्या

Next Story
Share it