क्या ! बारिश के मौसम में होती है, हेपेटाइटिस होने की अधिक संभावना ? जानिए कितने प्रकार की होती है यह बीमारी

क्या ! बारिश के मौसम में होती है, हेपेटाइटिस होने की अधिक संभावना ? जानिए कितने प्रकार की होती है यह बीमारी


अंकिता सिंह-
विश्व आज न जाने कितनी जानलेवा और हानिकारक बीमारियों का घर बन चुका है। जिनमे से कुछ का इलाज संभव है और कुछ बीमारियाँ लाइलाज हैं। लेकिन कह सकते हैं कि आज के वक्त में किसी भी बीमारी का इलाज असंभव नही है। अगर दवा काम नहीं करें तो सही खान पान और जीवन शैली में सुधार ला सकते हैं और बीमारी को कुछ हद तक कंट्रोल कर सकते हैं।
आपको बता दें, दुनिया भर में करीब एक करोड़ से ज्यादा लोग हेपेटाइटिस से ग्रस्त हैं। हेपेटाइटिस यानी लीवर में सूजन, शराब के अधिक सेवन से भी हेपेटाइटिस की शिकायक होती हैं । या हम यह भी कह सकते हैं कि,सही खान पान नहीं होने के कारण होता हैं । बारिश के मौसम में हेपेटाइटिस होने के ज्यादा चंसेस होते हैं।
हेपेटाइटिस वायरस से फैलने वाली बीमारी हैं, यह लगभग फांच तरह की होती हैं । इनके अलग होने के साथ साथ लोगो पर इनके प्रभाव भी अलग होते हैं । कुछ ज्यादा हानिकारक नही होते ,और उनका इलाज आसानी से हो जता हैं।
1 हेपेटाइटिस ए- हेपेटाइटिस ए दूषित जल और खाने से फैलता हैं।2हेपेटाइटिस बी- हेपेटाइटिस बी होने का मुख्य कारण हैं संक्रमित रक्त या किसी दूसरे द्रव्य पदार्थो के संपर्क में आने से फैलतीं हैं।3 हेपेटाइटिस सी – आम तौर पर हेपेटाइटिस सी hcv के कारण होता हैं, इनके फैलने या बढ़ने का एक मुख्य कारण संक्रमित खून या इंजेक्शन का इस्तेमाल करना।4 हेपेटाइटिस डी- हेपेटाइटिस डी एक वायरस होता है जो पहले से ही हेपेटाइटिस बी से ग्रसित रह्ता हैं,इसके होने के कई अलग कारण भी होते हैं जैसे की संक्रमित इंजेक्शन का प्रयोग करना आदि।5 हेपेटाइटिस ई- दूषित भोजन और जल से फैलता है।
हेपेटाइटिस से जुड़े कुछ लक्षण जिनको समझा बहुत जरुरी हैं,. स्किन और आँखों में पीलापन . यूरिन का रंग पीला होना . लगातार थकान और कमजोरी रहना. बार बार उल्टी आना . पेट में दर्द और सूजन आना . तेजी से वजन घटना हेपेटाइटिस से बचने के लिए सही समय पर हेपेटाइटिस से बचाव का टिका लगवाना ,साफ़ खाना और पानी पिए इंजेक्शन लगवाते समय नयी सिरिंज का यूज करनाहेपेटाइटिस से पीड़ित वयाक्ति का झूठा न खाए,और इन बातों पे विशेष ध्यान दें।

Next Story
Share it