Top

दिल्ली में प्रदूषण कम करने के लिए बड़े-बड़े दावे करते नजर आती हैं प्रशासन

दिल्ली में प्रदूषण  कम करने के लिए बड़े-बड़े दावे करते नजर आती हैं प्रशासन

हिमांशी पाडेय : बचपन एक्सप्रेस
दिल्ली में प्रदूषण कम करने के लिए बड़े-बड़े दावे किए जाते हैं। कई प्रकार की योजनाएं चलाई जाती है। पर प्रदूषण को लेकर इतनी संजीदगी दिखाने वाले प्रशासन की पोल उस वक्त खुल जाती है, जब दिल्ली में जगह जगह पर खुले में कूड़े के ढेरों पर आग जलती हुई मिलती है। जानकारी के मुताबिक दिल्ली के मुकरबा चौक से सिंघु बॉर्डर की तरफ जाने वाले हाईवे किनारे फैक्ट्रियों से निकलने वाला बड़ी मात्रा में कूड़ा और मलबा डाल दिया जाता है और बाद में इस कूड़े में आग लगा दी जाती है । वही इस कूड़े में बड़ी मात्रा में प्लास्टिक का कचरा और पॉलिथीन भी होती है। और इस कारण यहां से गुजरने वाले सभी लोगों को सांस लेना भी मुश्किल होती है । वही अगर बात करें प्रशासन की तो दिल्ली का ये हाईवे है इससे प्रशासनिक अधिकारी गुजरते हैं लेकिन उन्हें यह धुआं दिखाई नहीं देता। और कहीं ना कहीं इस सबके चलते प्रशासन की पोल खुलती नजर आ रही हैं। साथ ही आपको बताते चलें कि इससे पहले भी यहां पर इसी तरह से आग लगाई जाती रही है । पर यह आग कौन लगाता है यह तो जांच का विषय है लेकिन यहां इस तरह का कचरा कौन डालता है इसकी निगरानी करना तो नगर निगम का भी फर्ज है। नगर निगम यहां कूड़े पर अपना फर्ज नहीं निभाता तो पॉल्यूशन नियंत्रण विभाग भी इस बात की जांच नहीं करता और ना ही यहां पर दमकल की गाड़ियों को भेजकर इस आग को बुझाया जाता है बल्कि यह कई घंटों तक इसी तरह लगातार आग जलती रहती है और दिल्ली की हवा में जहर घोलती रहती है।

Tags:    India 
Next Story
Share it