Articles

  • सपा से कैसे भाजपा ने छीना रामपुर और आजमगढ़

    उत्तरप्रदेश :- उत्तरप्रदेश में 2 सींटो पर हुए लोकसभा चुनाव में भाजपा को जीत हासिल हुई और सपा की मजबूत सींट मानी जाने वाली रामपुर और आजमगढ़ उसके हाँथ से निकल गई। सपा को मिली हार के बाद लोग सोशल मीडिया पर अखिलेश यादव को कोसने लगे। लोगो ने कहा कि सपा की हार का कारण समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश या...

  • अमेरिका में गर्भपात पर लगी सुप्रीम रोक , मचा हड़कंप तुरंत बंद हुए क्लीनिक, जाने मामला

    अमेरिका में गर्भपात को लेकर बने कानून दशकों पुराने कानून को सुप्रीम कोर्ट ने पलट दिया है। कानून के पलटते ही अमेरिका में हंगामा मच गया। प्रदर्शनकारी अलग अलग शहरों में कोर्ट के इस फैसले के विरोध में उतर पड़े। कोर्ट ने फैसला किया है कि अमेरिका में महिलाओं के गर्भपात करवाने का अधिकार कानूनी रहेगा या नहीं ...

  • राष्ट्रपति चुनाव:- कोशिश है दमदार लेकिन विपक्ष नहीं बना पा रहा एकजुटता का हथियार

    राजनीति:- अगले महीने प्रस्तावित राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मी तेज हो गई है। पक्ष विपक्ष अपने अपने स्तर से तैयारियों में लग गया है लेकिन अभी इस संदर्भ में कोई भी दल औपचारिक रूप से आगे नहीं बढ़ा है। विपक्ष जहां एक ओर एकजुट होने की कवायद में लगा है वही उनकी यह एकता उनके मतभेदों का खुला...

  • अग्निपथ के विरोध में सड़को पर हुआ बवाल चार साल की नौकरी क्या सच मे है खिलवाड़

    अग्निपथ स्कीम क्यों युवाओं को खटकी Protest of Agnipath Scheme :- केंद्र सरकार की अग्निपथ स्कीम को लेकर पूरे देश मे प्रदर्शन जारी है। युवा जगह जगह सड़को पर उतर पर केंद्र सरकार का विरोध कर रहा है वही विपक्ष इसे मुद्दा बनाकर अपना सियासी तानाबाना बुन रही है और इसे छलावा बताकर मोदी सरकार पर बरस पड़ी है। बिह...

  • ''बिहार में छात्रों का बवाल कितना उचित/अनुचित ?''........

    केंद्र सरकार की सेना में ''अग्निपथ'' योजना के अंतर्गत चार वर्ष के लिए जवानों की भर्ती के विरोध में बिहार में छात्रों का बवाल शुरू हो गया. उनका कहना है कि पहले दो साल से सेना में भर्ती के मामले को बहाल किया जाकर भर्ती आरम्भ की जाए. क्योंकि अभ्यर्थियों की उम्र बार (एज बार) हो रही है. उनका कहना सही है. ...

  • ''बेरोजगारों से न वसूलें आवेदन शुल्क"......

    सरकारी और गैरसरकारी नौकरी के लिए १०० या उससे भी अधिक शुल्क आवेदन करने पर वसूला जाता है. यह बंद होना चाहिए. क्योंकि एक तरफ बेरोजगारों की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होती, दूसरे उन्हें बेरोजगारी का तनाव रहता है, तीसरे नौकरी के लिए उन्हें जगह-जगह आवेदन करना पड़ता है. नौकरी मिलने तक वे एक ओर भटकते रहते हैं...

  • ''केरोसीन नहीं, फूल बरसेंगे''.....

    राहुल जी विदेशों में जाकर मोदी सरकार (भारत सरकार) पर चाहे जितना केरोसीन फैलाओ या पेट्रोल छिड़को किन्तु दिल्ली के सिंहासन पर जब तक मुस्कुराते हुए ''कमल'' की सरकार विराजमान रहेगी तब तक तो पूरे देश में जन-जन के आशीर्वाद से ''फूल'' ही बरसेंगे........ पूजा नेनावा साहू

  • ''जो काशी को सजाये हैं वो टोक्यो आये हैं''.....

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के टोक्यों पहुँचते ही 'भारत माता की जय'' और ''जो काशी को सजाये हैं वो टोक्यो आये हैं'' के नारों से वहां स्थित भारतीय समाज गूँज उठा. मोदीजी वहां क्वाड समिट में शामिल होने गए हैं. वे जापान, अमेरिका, आस्ट्रेलिया के प्रमुखों से इंडो-पेसिफिक क्षेत्र के विकास, शांति, व्यापार और ...

  • 5जी से डिजिटल डिजिटल क्रांति को नया आयाम

    5जी तकनीक की दिशा में भारत तेजी से आगे बढ़ रहा है. भारत में 5जी तकनीक की टेस्टिंग पूरी हो चुकी है जो कि सफल रही है. देश की टेलीकॉम कंपनियां 5जी नेटवर्क का सबसे सफल परीक्षण कर चुकी हैं. पूरे देश में 5जी लागू होने के बाद मोबाइल की दुनिया में क्रांतिकारी परिवर्तन देखने को मिलेंगे स्पीड से तुलना की जाय ...

  • ''दिल्ली दोहरी आग की चपेट में''.......

    इन दिनों दिल्ली दोहरी आग की चपेट में आ गई है. एक तरफ तो आसमान से सूरज अपने मुख से आग बरसा रहा ही और पारा चढ़ा रहा है. ४९ डिग्री पारा याने पानी में उबाल सी आग धरती बरस रही है. तो दूसरी तरफ दिल्ली के औद्योगिक क्षेत्रों में आग ने तांडव मचा दिया है. मुंडका, बवाना नरेला तीनों जगह फक्ट्रियों में लगी आग...

  • ''आग बनाम बचाव साधन''........

    हालांकि आग कब, कहाँ, किस कारण लग जाए कुछ कह नहीं सकते. लेकिन उसकी भयावहता और वहां तक तुंरंत पहुँचने के साधनों को देखते हुए और अधिक बेहतर तकनीक जुटाने की आवश्यकता है. देश में तंग गलियों से ऊँची-ऊँची अट्टालिकाओं के मद्देनजर आग बुझाने के साधनों और फंसे हुए लोगों को ताबड़तोड़ निकालने की व्यवस्थाओं पर...

  • ''प्रदूषण कम करने में सहायक होगी ग्रीन हाईड्रोजन योजना''........

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऊर्जा से सम्बंधित मंत्रालयों को निर्देश दिए हैं कि वे ग्रीन हाइड्रोजन योजना पर तेजी से काम करें. उनकी देश को प्रदूषण मुक्त और स्वच्छ बनाने की दूरदृष्टि की सोच आगे अवश्य रंग लाएगी। इलेक्ट्रॉनिक वाहनों के उपयोग और निर्माण पर तेजी से काम चल रहा है और अब इससे भी बेहतर ...

Share it